PPP नेता Bilawal का बड़ा आरोप, 'Fake Degree' वाले मंत्री के आरोपों के कारण यूरोप में PIA पर लगा बैन

HIGHLIGHTS

  • पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी ( PPP ) के चेयरपर्सन बिलावल भुट्टो जरदारी ( Bilawal Bhutto Zardari ) ने इमरान सरकार ( Imran Khan Government ) पर जमकर निशाना साधा और पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस के यूरोप में बैन ( Pakistan International Airlines banned in Europe ) किए जाने को लेकर सरकार को जिम्मेदार ठहराया।
  • बिलावल ने कहा 'जिस मंत्री की खुद की डिग्री फर्जी है... उन्होंने बिना किसी सबूत के हमारे पायलटों पर इस तरह के बेबुनियाद आरोप लगाए, जिसके कारण PIA को दुनियाभर में प्रतिबंध किया जा रहा है।'

By: Anil Kumar

Updated: 01 Jul 2020, 08:02 PM IST

इस्लामाबाद। पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) को एक बड़ा झटका लगा है। दरअसल, यूरोपीय संघ ने मंगलवार को PIA के सभी उड़ानों पर कम से कम 6 महीने के लिए रोक लगा दी। इसको लेकर अब पाकिस्तान में सियासत शुरू हो गया है।

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी ( PPP ) के चेयरपर्सन बिलावल भुट्टो जरदारी ( Bilawal Bhutto Zardari ) ने बुधवार को इमरान सरकार पर जमकर निशाना साधा और पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस के यूरोप में बैन ( Pakistan International Airlines banned in Europe ) किए जाने को लेकर सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने आरोप लगाया कि सरका झूठ के आधार पर सरकारी संपत्ति को बेचना चाहती है।

पाकिस्तान: जमानत मिलने के 1 दिन बाद हिरासत से रिहा किए गए जरदारी, कराची पहुंचने की उम्मीद

लाहौर में एक संवाददाता सम्मेलन में बोलते हुए बिलावल ने कहा कि विमानन मंत्री गुलाम सरवर खान ( Aviation Minister Ghulam Sarwar Khan ) ने PIA के पायलटों पर बिना किसी सबूत के संदिग्ध लाइसेंस रखने का आरोप लगाया, जिसके बाद यूरोपीय संघ ( European Union ) के देशों के PIA के विमानों के उड़ान पर कम से कम 6 महीने के लिए रोक लगा दी।

बिलावल ने कहा 'जिस मंत्री की खुद की डिग्री फर्जी है... उन्होंने बिना किसी सबूत के हमारे पायलटों पर इस तरह के बेबुनियाद आरोप लगाए, जिसके कारण PIA को दुनियाभर में प्रतिबंध किया जा रहा है।' उन्होंने पीएम इमरान खान को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि अब से पहले कभी भी किसी सरकार ने PIA को इस तरह से नुकसान नहीं पहुंचाया है।

PIA की संपत्ति बेचना चाहती है सरकार: बिलावल

बिलावल भुट्टो ने कहा कि सरकारी अधिकारी यह महसूस करने में विफल रहे कि पायलटों को हर छह महीने में एक परीक्षा में बैठने और अपने लाइसेंस को नवीनीकृत करने की आवश्यकता होती है और उन्हें उड़ानों के संचालन के लिए डिग्री की आवश्यकता नहीं होती है। उन्होंने जोर दिया कि नागरिक उड्डयन प्राधिकरण ( Civil Aviation Authority ) द्वारा सभी पायलटों को लाइसेंस और प्रमाणन जारी किया जाता है।

उन्होंने आगे कहा 'मैंने संसद में सरकार को चेतावनी दी थी कि यदि आप इसे नियंत्रित करने के लिए एक नीति नहीं अपनाते हैं, तो हम स्वीडन और कुछ अन्य देशों की तरह अलग-थलग पड़ जाएंगे और हमारे नागरिकों को अन्य देशों में अनुमति नहीं दी जाएगी।’ बिलावल ने इमरान सरकार पर आरोप लगाया कि वह कराची में 22 मई को हुए विमान दुर्घटना ( plane crash In karachi ) का फायदा उठाकर PIA का निजीकरण करने के लिए इस तरह के झूठ बोल रही है।

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस को 18 करोड़ का फटका, 46 विमान उड़ा दिए बिना सवारी के

बिलावल ने कहा कि सरकार PIA की संपत्तियों को बेचना चाहती है, जिसमें न्यूयॉर्क में एयरलाइन के स्वामित्व वाले रूजवेल्ट होटल ( Roosevelt Hotel ) भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि अगर सरकार निजीकरण के पक्ष में है तो भी वह मौजूदा आर्थिक परिस्थितियों में PIA को नहीं बेच सकती है।

पायलटों पर धोखाधड़ी से पास करने का आरोप

बता दें कि बीते दिनों पाकिस्तान के विमानन मंत्री गुलाम सरवर खान के एक बयान दिया था कि लगभग एक तिहाई पाकिस्तानी पायलटों ने पायलट की अपनी परीक्षा धोखाधड़ी से पास की है। इसके बाद से सियासी गलियों में बवाल मच गया।

विपक्ष ने इमरान सरकार को बताया 'सेलेक्टेड सरकार', कहा- दुनिया में अलग-थलग पड़ा पाकिस्तान

PIA के प्रवक्ता अब्दुल्ला हफीज ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के कारण पीआईए यूरोप के लिए उड़ान नहीं भर रही है, लेकिन विमानन कंपनी को अगले दो महीनों के भीतर ओस्लो, कोपेनहेगन, पेरिस, बार्सिलोना और मिलान के लिए फिर से उड़ान शुरू करने की उम्मीद की थी। उन्होंने पायलट धोखाधड़ी कांड के बारे में कहा कि 'हमें वास्तव में बहुत बुरा लग रहा है।’

बता दें कि कराची में 22 मई को PIA का एक विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के कारण 97 लोगों की मौत गई थी। इसकी जांच के लिए एक कमिटी बनाई गई थी। जांच में कई तरह की बातें सामने आई। जांच में पता चला कि पाकिस्तान में 860 पायलटों में 260 ने अपनी पायलट परीक्षा में धोखाधड़ी की थी, लेकिन फिर भी नागरिक उड्डयन प्राधिकरण ने उन्हें लाइसेंस दे दिए।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned