संयुक्त राष्ट्र ने अपने कर्मचारियों को दी चेतावनी, कहा- पाकिस्तानी एयरलाइंस में न करें यात्रा

HIGHLIGHTS

  • संयुक्त राष्ट्र ( United Nation ) ने अपने सभी स्टाफ को पाकिस्तान में रजिस्टर्ड एयरलाइन से सफर ना करने की सलाह दी है।
  • यूनाइटेड नेशन ने पायलटों को फर्जी लाइसेंस की आशंका और आरोपों के चलते यह चेतावनी जारी की है।

By: Anil Kumar

Updated: 24 Jan 2021, 05:03 PM IST

इस्लामाबाद। आर्थिक कंगाली के दौर से गुजर रहे पाकिस्तान ( Pakistan ) को एक और बड़ा झटका लगा है। दरअसल, पायलटों के फर्जी लाइसेंस ( Fake Licence ) का मामला सामने आने पर कई देशों में पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलायंस ( PIA ) के उड़ान पर पर प्रतिबंध लगने के बाद अब संयुक्त राष्ट्र ( United Nations ) ने अपने सभी कर्मचारियों को PIA के विमान मे उड़ान नहीं भरने के लिए चेताया है।

संयुक्त राष्ट्र ने अपने सभी स्टाफ को पाकिस्तान में रजिस्टर्ड एयरलाइन से सफर ना करने की सलाह दी है। युनाइटेड नेशन ने पायलटों को फर्जी लाइसेंस की आशंका और आरोपों के चलते यह चेतावनी जारी की है।

पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस को बढ़ा झटका, यूरोपीय यूनियन ने फिर लगाया 3 महीने का प्रतिबंध

बता दें कि पिछले साल कराची में PIA का एक विमान हादसे का शिकार हो गया था, जिसके बाद जांच में पायलटों के फर्जी लाइसेंस का मामला सामने आया था। पाकिस्तान के मंत्री ने खुद इसका दावा किया था कि देश में बड़ी संख्या में पायलटों के पास फर्जी लाइसेंस है। इसके अलावा संसद में भी ये स्वीकार किया गया कि तस्करी जैसे जघन्य अपराधों में एयरलायन स्टाफ पकड़ा जाता रहा है।

UN ने जारी की एडवाइजरी

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र सिक्यॉरिटी मैनेजमेंट सिस्टम ने एक एडवाइजरी जारी की है। इसमें कहा गया है कि सिविल एविएशन अथॉरिटी (CAA) पाकिस्तान की फर्जी लाइसेंस को लेकर जारी जांच के चलते, पाकिस्तान में रजिस्टर्ड एयर ऑपरेटरों के इस्तेमाल के लिए चेतावनी दी जा रही है।

यह एडवाइजरी पाकिस्तान के सभी कैरियर्स के लिए है। एडवाइजरी के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र के सभी एजेंसियों (UN डिवेलपमेंट प्रोग्राम, विश्व स्वास्थ्य संगठन, UN शरणार्थी उच्चायोग, खाद्य एवं कृषि संगठन, UN शिक्षा, विज्ञान और सांस्कृतिक संगठन) पर यह लागू होगा।

पाकिस्तान: उड़ान भरने के बाद विमान के इंजन में लगी आग, लाहौर एयरपोर्ट में कराई गई आपात लैंडिंग

मालूम हो कि पिछले साल मई में कराची एयरपोर्ट के पास एक रिहायशी इलाके में PIA का विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इसमें 90 से अधिक लोगों की मौत हो गई थी। इस हादसे की जांच के लिए एक कमिटी गठित की गई थी। कमिटी ने जांच में पाया गया कि बड़े पैमाने पर पायलटों के पास फर्जी लाइसेंस है।

इसके कुछ समय पहले ही पाकिस्तान के उड्डयन मंत्री सरवर खान ने ये गंभीर आरोप लगाया था कि PIA के 40 फीसदी पायलटों के पास फर्जी लाइसेंस है। फर्जी लाइसेंस का मामला सामने आने के बाद से यूरोपियन यूनियन ने 6 महीने के लिए उड़ानों पर प्रतिबंध लगाया दिया था और फिर पिछले साल दिसंबर में ही इस प्रतिबंध को अगले तीन महीने (मार्च 2021) तक बढ़ा दिया है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned