दुनिया के बड़े आतंकी हमलों में रहा है पाकिस्तान का हाथ, आतंकियों का बना गढ़

दुनिया के बड़े आतंकी हमलों में रहा है पाकिस्तान का हाथ, आतंकियों का बना गढ़

Mohit Saxena | Publish: Apr, 23 2019 08:03:08 AM (IST) | Updated: Apr, 23 2019 08:53:01 AM (IST) पाकिस्तान

  • श्रीलंका ब्लास्ट में आईएसआई के हाथ होने की आशंका
  • तौहीद जमात के पीछे अंतरराष्ट्रीय संगठन का हाथ
  • कई बड़े आतंकी हमलों केे तार पाकिस्तान से जुड़ते आए हैं

लाहौर। श्रीलंका में हुए सीरियल ब्लास्ट ने पूरी दुनिया को हिला कर रख दिया है। इन धमाकों में अब तक 290 से अधिक लोगों की जान जा चुकी है। इस हमले में मुस्लिम समूह नेशनल तौहीद जमात का हाथ बताया जा रहा है। श्रीलंकाई सरकार का कहना है कि उसके पास पहले से ही कुछ इनपुट थे, मगर उन्हें ये नहीं मालूम था कि हमला इतना बड़ा होगा। यह आतंकी संगठन हाल ही में उभार में आया है। आशंका जताई जा रही है कि आतंकी गुट के पीछे किसी अंतरराष्ट्रीय संगठन का हाथ हो सकता है। इसके पीछे और कोई नहीं पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई का सपोर्ट बताया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि इस आतंकी संगठन के पास इतनी बड़ी मात्रा में विस्फोटक आईएसआई ने मुहैया कराया है। गौरतलब है कि इससे पहले भी कई बड़े आतंकी हमलों केे तार पाकिस्तान से जुड़ते आए हैं। पड़ोसी मुल्क अफगानिस्तान और भारत में हुईं सभी आतंकवादी घटनाओं में पाकिस्तान का ही नाम जुड़ा है।

ये भी पढ़ें: सीरियल बम धमाकों में ब्रिटेन के आठ नागरिकों की मौत

पाकिस्तान ने कई बार साबित किया

पाकिस्तान कई बार साबित कर चुका है कि वह आतंकियों की प्रयोगशाला है। यहां के कबायली क्षेत्र को आतंकियों के लिए सबसे महफूज पनाहगाह बताई जाती है। अमरीका की एजेंसी इस बात की पुष्टि कर चुकी हैं। अमरीकी एजेंसी सीआईए का कहना है कि अफगानिस्तान से लेकर जम्मू-कश्मीर में हो रहीं आतंकी घटनाओं के पीछे सिर्फ पाकिस्तान का ही हाथ है। अफगानिस्तान में तालिबान को ताकतवर बनाने में पाक की एजेंसी आईएसआई जिम्मेदार है। वह चाहती है कि अफगानिस्तान में अशांति बनी रहे। इसके साथ वह जम्मू-कश्मीर में आतंकी वारदात कराकर वह भारत को कमजोर करना चाहती है। अमरीकी रिपोर्ट का कहना है कि पाकिस्तान को अगर जल्द नहीं रोका गया, तो वह पूरी दुनिया के लिए घातक बन जाएगा।

ये भी पढ़ें: श्रीलंका: कोलंबो बस अड्डे से 87 बम डेटोनेटर बरामद, देश में आपातकाल घोषित

कई बड़े आतंकियों का गढ़

हाफ़िज सईद और अजहर मसूद जैसे आतंकी बीते कई दशकों से पाकिस्तान में आराम की जिंदगी काट रहे हैं। 1999 में भारत से छूटने के बाद उसने पाकिस्तान से भारत पर कई आतंकी हमले करवाए। भारत में संसद पर हमला, पठानकोट हमला, उरी हमला और पुलवामा जैसी बड़ी घटनाओं में उसने सैकड़ों आम नागरिकों और सेना के जवानों की जान ली। वहीं हाफज सईद ने मुंबई के ताज होटल पर हमला कराकर देश की सुरक्षा पर सवाल उठा दिए। ये आतंकी आज भी पाकिस्तान की सड़कों पर बेखौफ हो निकलते हैं और अपने भाषणों में भारत के खिलाफ जहर उगलते हैं। पाकिस्तान में 2011 में ओसाम बिन लादेन अमरीकी सील कमांडो फोर्स के हाथों मारा गया था। वह पाकिस्तान में सेना के बेस कैंप के पास रह रहा था। इन घटनाक्रमों से पता चला है कि पाकिस्तान में आतंकवाद मजहब बनकर उभर रहा है।

ये भी पढ़ें: श्रीलंका सरकार ने मुस्लिम आतंकी समूहों को ठहराया जिम्मेदार, कहा- सामने आई खुफिया तंत्र की विफलता

एमक्यूएम के संस्थापक अल्ताफ हुसैन का दावा

श्रीलंका में हुए सीरियल ब्लास्ट को लेकर निर्वासित पाकिस्तानी नेता और मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट (एमक्यूएम) के संस्थापक अल्ताफ हुसैन ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने दावा किया है कि कोलंबो धमाकों में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ हो सकता है। हुसैन ने यूएन के महासचिव से अपील की है कि इन बम धमाकों में आईएसआई के शामिल होने की संभावना को दरकिनार न किया जाए। हुसैन इस समय लंदन में रह रहे हैं।
उन्होंने कहा कि अब तक दुनियाभर में हुईं आतंकी वारदातों में पाकिस्तान का हाथ पाया गया है। ऐसे में इस हमले को अंजाम देने में पाकिस्तान में छिपे आतंकियों की संभावना अधिक है।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

 

 

 

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned