VIDEO : तीन थानों की पुलिस व आरएसी के जवानों ने दी गांव में दबिश, मचा हड़कंप, 23 जने गिरफ्तार

- पाली जिले के जैतारण थाना क्षेत्र के आगेवा गांव में पुलिस से दुव्र्यवहार का मामला, पुलिस कार्रवाई का विरोध

By: Suresh Hemnani

Updated: 12 Jun 2021, 08:34 PM IST

पाली। जिले के जैतारण थाना क्षेत्र के आगेवा गांव में मारपीट एवं अपहरण की सूचना पर पहुंचे पुलिसकर्मियों के साथ शुक्रवार को दुव्र्यवहार करने व राजकार्य में बाधा पहुंचाने के मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए शनिवार तडक़े करीब साढ़े चार बजे जैतारण वृत्ताधिकारी सुरेशकुमार के नेतृत्व में जैतारण थानाधिकारी सहदेव चौधरी, आनंदपुर कालू थानाधिकारी शारदा विश्नोई व रायपुर थानाधिकारी मनोज राणा की टीम व आरएसी के जवानों ने आगेवा गांव में दबिश दी। पुलिस ने इस मामले में घर में सो रहे 23 आरोपियों को दबोचा। इसमें से दस आरोपी इस मामले में व 13 आरोपी शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने दबोचा तथा थाने लाए। मामले की जांच जारी है। पुलिस की कार्रवाई से हडक़ंप मच गया।

पुलिस से दुव्र्यवहार में दस आरोपी गिरफ्तार
पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत ने बताया कि राजकार्य में बाधा पहुंचाने के मामले में आगेवा निवासी कुलदीप पुत्र अणदाराम बावरी, महेन्द्र पुत्र पारस राम बावरी, हापूराम पुत्र जगनाथ बावरी, नरसिंह राम पुत्र मांगीलाल बावरी, प्रेमराम पुत्र मांगीलाल बावरी, सत्यनारायण पुत्र लालूराम बावरी, सम्पत राम पुत्र हिराराम बावरी, सोजत थाना क्षेत्र के खारिया नीव हाल आगेवा निवासी सुरेश पुत्र बाबूलाल बावरी, सांवर राम पुत्र हापू राम बावरी व रामराज पुत्र रूपाराम बावरी को गिरफ्तार किया।

पुलिस कार्रवाई का विरोध, 13 जने शांतिभंग में गिरफ्तार
सुबह जब पुलिस आगेवा गांव में कार्रवाई करने पहुंची तो कई लोगों ने इसका विरोध किया। इस दौरान हडक़ंप मच गया। पुलिस ने शांति भंग के आरोप में आगेवा निवासी राजेन्द्र पुत्र रूपाराम बावरी, महेन्द्र पुत्र हिराराम, राकेश पुत्र रूपाराम बावरी, राकेश पुत्र बंशीलाल बावरी, सुरेश पुत्र गुलाब बावरी, जवरीलाल पुत्र पूखाराम बावरी, पप्पूराम पुत्र जोराराम बावरी, महेन्द्र ;पुत्र दुर्गा बावरी, माधुराम पुत्र प्रेमराम बावरी, पांचाराम पुत्र मांगीलाल बावरी, बेबाराम पुत्र बाबू लाल बावरी, सन्तोक राम पुत्र पूखाराम बावरी, लीला पत्नी अणदाराम बावरी को गिरफ्तार किया।

अपहरण की सूचना पर मौके पर पहुंची थी पुलिस
शुक्रवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे आगेवा में मारपीट, झगड़े व युवक के अपहरण की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची थी। जहां बावरी समाज के कई लोग मौजूद थे। आगेवा निवासी 19 वर्षीय अनिल पुत्र रामेश्वर मेवाड़ा को भीड़ ने नीचे बिठा रखा था। पुलिस इस दौरान भीड़ में शामिल आगेवा निवासी सत्य नारायण पुत्र लालूराम बावरी व सहीराम पुत्र गोविन्दराम बावरी से मामले की जानकारी लेने लगी तो दोनों आवेश में आ गए। वे अनिल के खिलाफ गोविंद की झूठी शिकायत का आरोप लगाने लगे, साथ ही कहने लगे कि इस शिकायत से दो दिन पहले गोविंद को पुलिस गिरफ्तार कर ले गई थी। पुलिस ने दोनों से पुलिस ने समझाइश का प्रयास किया। लेकिन वहां मौजूद लोग पुलिस से उलझ गए और दुव्र्यवहार किया, धक्कामुक्की की। पुलिस पर पत्थर फेंके। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इस पर पुलिस ने राजकार्य में बाधा पहुंचाने का मामला दर्ज किया था।

जैतारण विधायक व प्रधान ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र
आगेवा प्रकरण को लोकर जैतारण विधायक अविनाश गहलोत व प्रधान मेघाराम सोलंकी ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को सामूहिक पत्र लिखकर निर्दोष लोगो को मुक्त करने की मांग की है।
उन्होने पत्र मे लिखा है कि पुलिस व कुछ लोगो के बीच हुई धक्का-मुक्की का पूरा वीडियो वायरल हुआ, इसमें मात्र दो-तीन लोग ही नजर आ रहे है। लेकिन पुलिस करीब एक दर्जन लोगों को आपराधिक मामले की विभिन्न धाराओं में फंसा रही है। उन्होंने इस मामले की निष्पक्ष जांच करवा कर निर्दोष लोगों को मुक्त करने की मांग की है।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned