script इस स्कूल में क्यों नहीं पढ़ पा रहे बच्चे, पढ़ें पूरी खबर... | 24 posts vacant in school in Sadri of Pali Rajasthan | Patrika News

इस स्कूल में क्यों नहीं पढ़ पा रहे बच्चे, पढ़ें पूरी खबर...

locationपालीPublished: Feb 10, 2024 05:19:47 pm

Submitted by:

Suresh Hemnani

पाली जिले के सादडी डीएमबी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय का मामला। छात्रा कोष से लगा रखे हैं आठ शिक्षक, जिम्मेदार व जनप्रतिनिधि नहीं दे रहे ध्यान।

इस स्कूल में क्यों नहीं पढ़ पा रहे बच्चे, पढ़ें पूरी खबर...
इस स्कूल में क्यों नहीं पढ़ पा रहे बच्चे, पढ़ें पूरी खबर...
पाली जिले के सादड़ी के देवीचंद मायाचन्द बोरलाइवाला राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल में 10 व्याख्याताओं के साथ ही शिक्षक व गैर शैक्षणिक कार्य के 24 पद लम्बे समय से रिक्त हैं। ऐसे में कृषि, जीव विज्ञान, गणित, वाणिज्य व कला संकाय विद्यार्थियों की पढ़ाई स्वाध्याय पर टिक कर रह गई है। शिक्षा विभाग के अधिकारियों को अवगत कराने के बाद भी समाधान नहीं हो पाया है।
देसूरी उपखण्ड क्षेत्र के उच्च माध्यमिक डीएमबी स्कूल में कभी प्रवेश पाना मुश्किल होता था, लेकिन आज नामांकन घटता जा रहा है। विद्यालय में कुल 606 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। लेकिन, शिक्षक, व्याख्याता व गैर शैक्षणिक कार्यों का स्टाफ नहीं होने से विद्यार्थियों का रुझान भी कम हो रहा है। स्वीकृत पद के मुकाबले महज 14 स्टाफ है। जबकि, 8 शिक्षक-व्याख्याता तो छात्रकोष से लगाए हुए हैं। कई संकाय तो वैकल्पिक व्यवस्थाओं के भरोसे चल रहे हैं। स्कूल में कला, वाणिज्य, विज्ञान संकाय में जीवविज्ञान, गणित व कृषि विज्ञान की कक्षाएं संचालित हो रही हैं। बोर्ड परीक्षाएं सिर पर आ गई है, लेकिन हालात जस के तस है।
संकायवार इतने पद रिक्त रिक्त पद
कला संकाय : ऐच्छिक अंग्रेजी -1, हिंदी साहित्य-1 व अनिवार्य हिंदी-1।

विज्ञान संकाय : कृषि विज्ञान -2, भौतिक विज्ञान-1, गणित-1, रसायन शास्त्र-1।

वाणिज्य संकाय : लेखाशास्त्र-1, व्यवसायिक अध्ययन-1
ये पद भी रिक्त
उप प्राचार्य 1, वरिष्ठ शारीरिक शिक्षक 1, वरिष्ठ पुस्तकालयाध्यक्ष 1, अतिरिक्त प्रशासनिक अधिकारी 1, वरिष्ठ अध्यापक विशेष शिक्षा 1, अध्यापक लेवल दो में 1 व लेवल तीन में 1 पद, कम्प्यूटर अनुदेशक 1, प्रयोगशालाए सेवक 3 पद, चतुर्थ श्रेणी कार्मिक 2 पद लम्बे समय से रिक्त हैं।
डेढ़ दशक से ऐसे ही हाल
डीएमबी उच्च माध्यमिक स्कूल डेढ़ दशक से शिक्षक व व्याख्याताओं की कमी भोग रहा है। ऐसे में विद्यार्थी व अभिभावकों का रुझान घट रहा है। निर्धन व मध्यम वर्ग के बच्चे यहां अध्ययन की उम्मीद लेकर दूरदराज ग्राम्यांचल से पहुंच रहे हैं। लेकिन, शिक्षक व व्याख्याताओं की कमी से पढ़ाई बाधित हो रही है।
इन्होंने कहा...
अधिकारियाें को अवगत करवायास्कूल में व्याख्याताओं व गैर शैक्षणिक कार्यो में 24 पद रिक्त हैं। इन सभी पदों पर जल्द नियुक्ति हो, इसलिए शिक्षा विभाग उच्चाधिकारियों से लगातार पत्राचार व मांग की जा रही है। जल्द नियुक्ति हो इसके सार्थक प्रयास कर रहे हैं। वैकल्पिक शिक्षण व्यवस्थार्थ छात्रकोष से आठ शिक्षक लगा रखे हैं।
-छगनलाल भाटी, संस्थाप्रधान, डीएमबी राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल, सादडी

ट्रेंडिंग वीडियो