निजी अस्पतालों में 25 प्रतिशत बेड कोरोना मरीजों के लिए करेंगे आरक्षित

-चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के सचिव सिद्धार्थ महाजन ने जारी किया आदेश

By: Suresh Hemnani

Updated: 20 Apr 2021, 08:11 PM IST

पाली। कोरोना महामारी के दौरान मरीजों को बेहतर और सुलभ उपचार सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए निजी चिकित्सालयों और विभाग के बीच तालमेल के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की गई है। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के सचिव सिद्धार्थ महाजन ने इसके आदेश दिए है।

नोडल अधिकारी 60 व उससे अधिक बेड वाले निजी चिकित्सालयों में कोरोना मरीजों के लिए 25 प्रतिशत बेड आरक्षित करेंगे। वे निजी चिकित्सालयों में हो रहे वैक्सीनेशन की गति बढ़ाने का प्रयास करेंगे। चिकित्सालयों में आने वाले कोविड संक्रमित मरीजों के साथ मुख्यमंत्री हैल्पलाइन 181 के जरिए आने वाले मरीजों को भी तत्काल बेड उपलब्ध कराने का कार्य करेंगे। निजी चिकित्सालय यदि तय कोविड इलाज की दर से अधिक राशि लेने पर इसकी शिकायत की जा सकती है। इसके लिए एक कमेटी गठित की गई है। इस कमेटी में अतिरिक्त जिला कलक्टर, सीएमएचओ, वरिष्ठ चिकित्सक मेडिसन, वरिष्ठ चिकित्सक निश्चेतन सम्मलित है।

मरीजों को बेड उपलब्ध कराने दल का गठन
पाली। जिले के अस्पतालों में मरीजों को आवश्यक बेड उपलब्ध करवाने के लिए जिला स्तरीय दल का गठन किया गया है। इसमें जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्वेता चौहान, उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी विकास मारवाल, राजकीय मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य केसी अग्रवाल को शामिल किया गया है। दल राजकीय एवं निजी चिकित्सालय में उपलब्ध एवं रिक्तकोविड बेड की रियल टाइम सूचना अस्पताल के डिस्प्ले बोर्ड पर प्रदर्शित करवाने के साथ सीएम हैल्पलाइन 181, जिला स्तरीय वॉररूम को प्रतिदिन भेजेगा। दल के सदस्य बेड व एम्बुलेंस की उपलब्धता के संबंध में प्राप्त शिकायतों का प्रतिदिन 24 घंटे में निराकरण करेंगे।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned