VIDEO : रामदेवरा जातरु बनकर करते थे वारदातें, अन्तरराज्यीय बागरिया गैंग के 4 शातिर नकबजन चढ़े पुलिस के हत्थे

- पाली के हाउसिंग बोर्ड की चोरियों का राजफाश

By: Suresh Hemnani

Updated: 24 Aug 2020, 08:31 AM IST

पाली। पिछले दिनों हाउसिंग बोर्ड में लगातार हुई चोरियों का पुलिस ने आखिरकार राजफाश कर लिया है। सभी वारदातें अन्तरराज्यीय बागरिया गैंग ने की थी। चार शातिर नकबजनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी रामदेवरा जातरू के भेष में पकड़े गए हैं।

पुलिस उप अधीक्षक निशांत भारद्वाज ने बताया कि पुलिस अधीक्षक राहुल कोटोकी और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक तेजसिंह के निर्देश पर चोरी की वारदातों का खुलासा करने के लिए औद्योगिक क्षेत्र थानाप्रभारी सवाईसिंह राठौड़ के नेतृत्व में टीम गठित की गई। टीम ने सीसीटीवी फुटेज और वारदातों के तरीके का अध्ययन किया। औद्योगिक क्षेत्र और कोतवाली पुलिस थाने की मदद से बागरिया गैंग के चार शातिर नकबजनों को पकडऩे में पुलिस को सफलता मिल गई। यह गैंग पाली, अजमेर, राजसमंद समेत कई जिलों में सक्रिय है। पुलिस ने महेन्द्र उर्फ भागचन्द पुत्र रामप्रसाद उर्फ मोहब्बतिया, निवासी कीरो का मोतीपुरा अजमेर, लोगिया उर्फ तेजु उर्फ लोकेश पुत्र रामलाल बागरिया, निवासी बड़ली जिला अजमेर, शिवराज उर्फ हौराज पुत्र चन्दाराम बागरिया, निवासी गुढा खुर्द जिला अजमेर तथा महावीर उर्फ कायरा पुत्र जयराम बागरिया, निवासी कीरों का मोतीपुरा जिला अजमेर को गिरफ्तार किया है।

रामदेवरा जातरू बनकर करते हैं रैकी
अजमेर जिले की बागरिया गैंग रामदेवरा जातरू बनकर भाद्रपद महीने में पूरी तरह से सक्रिय रहती है। मोटरसाइकिल पर सवार होकर नकबजन बीच रास्ते में रैकी कतरे हैं। बिना नंबरी मोटरसाइकिल से शहर व कस्बों में दिन में ही तालाबंद मकानों को निशाना बनाते हैं। वारदात को अंजाम देकर अगले निकल जाते हैं। इस गैंग ने पूर्व में चेन्नई, दिल्ली, हरियाणा व राजस्थान के कई शहरों में वारदातों को अंजाम दिया है। जोधपुर व राजसमंद में भी गैंग ने नकबजनी की वारदात कबूली है।

इन वारदातों का खुलासा
-ईश्वरर सिंह पुत्र बजरंग सिंह शेखावत, निवासी हाउसिंग बोर्ड के यहां जेवरात व नकदी चोरी हो गए थे।
-अमित अरोड़ा पुत्र अश्विनी अरोड़ा, निवासी हाउसिंग बोर्ड के घर से 12 अगस्त को सोने-चांदी के जेवरात व नकदी चोरी हो गए।
-मोहित माथुर निवासी हाउसिंग बोर्ड के घर भी 12 अगस्त को ही चोरों ने सेंध मारी थी। यहां भी जेवरात व नकदी चोरी हुआ।

इस टीम से पकड़ी गई गैंग
थानाप्रभारी सवाईसिंह राठौड़, एएसआई जेठूदान, कांस्टेबल धनराज, जितेन्द्र बागौरा, महेश, प्रकाश, हरिमोहन, रमेश, दिनेकश, मुकेशकुमार व दिनेशकुमार ने नकबजन को पकडऩे में सफलता हासिल की। थाने के एएसआई दुर्गाराम, कांस्टेबल कंवरीलाल, सोहनलाल, राजेन्द्र, अर्जुनसिंह, राकेश व केवलराम का भी सहयोग रहा।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned