उखड़ती सांसों के लिए संजीवनी बना सुमेरपुर का ऑक्सीजन प्लांट, प्रतिदिन 500 से अधिक सिलेंडर तैयार

- पाली के अलावा सिरोही जिले को भी होती है आपूर्ति

By: Suresh Hemnani

Published: 18 May 2021, 10:07 AM IST

पाली/सुमेरपुर। कोरोना की दूसरी लहर घातक होने के साथ ही ऑक्सीजन के अभाव में उखड़ती सांसों के बीच मरीज दम तोडऩे लगे। ऐसे में सुमेरपुर ने पाली के अलावा सिरोही जिले को भी निरंतर ऑक्सीजन सिलेंडर आपूर्ति कर हजारों मरीजों को नया जीवनदान दिया। सुमेरपुर के ऑक्सीजन प्लांट में प्रतिदिन 500 से 550 सिलेंडर रिफलिंग होकर जिला कलक्टर के निर्देश पर नियुक्त अधिकारी की देखरेख में अति आवश्यक हॉस्पिटल में आपूर्ति किए जाते हैं।

अप्रेल माह में प्रदेशभर की तरह पाली व सिरोही जिले में भी कोरोना ने विकराल रूप धारण कर लिया था। कोरोना के कोहराम के बीच ऑक्सीजन के लिए मारामारी मची हुई थी। देश-प्रदेश में आए दिन ऑक्सीजन के अभाव में मरीज लगातार दम तोड़ रहे थे। अप्रेल माह के अंतिम सप्ताह में जिले में ऑक्सीजन के अभाव में तीन मरीजों की जान चली गई थी। ऐसे में सुमेरपुर में निजी क्षेत्र का साईनाथ ऑक्सीजन प्लांट देवदूत बनकर सामने आया। पलंाट के मालिक मूलचंद माली ने बताया कि उन्हें खुशी है कि उनके प्लांट पर तैयार हो रही ऑक्सीजन गैस से हजारों मरीजों को नया जीवन मिल रहा है।

मारामारी के बीच जिला प्रशासन ने अपने नियंत्रण में लिया
जिले में भी लगातार ऑक्सीजन सिलेंडर की कमी महसूस होने के बाद जिला कलक्टर के निर्देश पर सुमेरपुर के जाखामाता औद्योगिक क्षेत्र स्थित निजी क्षेत्र का साईनाथ ऑक्सीजन प्लांट को अपने नियंत्रण में ले लिया। यहां प्रभावी निगरानी के लिए जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्वेता चौहान को को-ऑर्डिनेटर बनाया। इस समय प्लांट में चौबीस घंटे निगरानी के लिए जिला औषधि नियंत्रक मनीषकुमार, माधवसिंह, भू-अभिलेख निरीक्षक फूलाराम मीणा के अलावा पंचायतीराज, नगरपालिका व तहसील कार्यालय से 3-3 कार्मिकों को नियुक्त कर रखा है। प्लांट चौबीस घंटे पुलिस पहरे में रहता है। बिना सक्षम अधिकारी की अनुमति कोई भी व्यक्ति अंदर प्रवेश नहीं कर सकता।

प्रतिदिन 500 से 550 सिलेंडर होते हैं तैयार
नियुक्त अधिकारी मनीषकुमार ने बताया कि इस समय प्लांट में चौबीस घंटे सातों दिन कोविड प्रोटोकॉल के तहत कार्य होता है। प्रतिदिन 500 से 550 सिलेंडर तैयार किए जाते हैं। मुख्य कार्यकारी अधिकारी की अनुमति के बाद ऑक्सीजन सिलेंडर की आपूर्ति की जाती है। इस समय पाली बांगड हॉस्पिटल में 400, भगवान महावीर हॉस्पिटल में 50, राजकीय चिकित्सालय सिरोही में 50 और आवश्यकता के अनुसार सिरोही जिले के आबूरोड, पाली जिले के सादड़ी, बाली समेत सरकारी हॉस्पिटल में आपूर्ति की जाती हैं।

अधिकारी ने बताया-
जिला कलक्टर के निर्देश पर सुमेरपुर स्थित ऑक्सीजन प्लांट पर अधिकारियों समेत कार्मिकों की नियुक्ति कर रखी है। कोई भी मरीज ऑक्सीजन के अभाव में दम नहीं तोड़े इसके लिए पाली व सिरोही जिले में सिलेंडर की आपूर्ति की जा रही है। प्लांट पर निरंतरता बनाए रखने के लिए बिजली विभाग को चौबीस घंटे निर्बाध बिजली आपूर्ति के लिए पाबंद कर रखा है। -मनीषकुमार, जिला औषधि अधिकारी, पाली

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned