छह साल पुरानी रंजिश के चलते रची थी हत्या की साजिश, हरियाणा से बुलाए गुर्गें, मुख्य आरोपी गिरफ्तार

- हिस्ट्रीशीटर जब्बरसिंह पर फायरिंग का मामला
- मुख्य आरोपी सुरेश गिरफ्तार

By: Suresh Hemnani

Published: 18 Apr 2021, 08:48 PM IST

पाली। गुड़ा एन्दला थाना क्षेत्र के मणिहारी गांव में गत दिनों हिस्ट्रीशीटर जब्बरसिंह पुत्र जयसिंह राजपूत निवासी मणिहारी व उसके साथियों पर फायरिंग करने के मामले में पुलिस ने रविवार को मुख्य साजिशकर्ता को फलोदी जोधपुर से गिरफ्तार किया। उससे पूछताछ जारी है।

हरियाणा का शुटर भोला ने खोले थे राज
पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत के अनुसार गत छह जनवरी को जब्बर सिंह मणिहारी पर जीप में सवार होकर आए कुछ लोगों ने फायरिंग की थी। इससे जब्बर सिंह, उसका साथी गोरधन सिंह, पर्वत सिंह व सुरेन्द्र सिंह के छर्रें लगे थे। जवाब में फायरिंग में भोला नाम के आरोपी के भी गोलियां लगी थी। पुलिस ने जानलेवा हमले का मामला दर्ज कर जांच श्ुारू की। एएसपी डॉ. तेजपाल सिंह, सीओ ग्रामीण श्रवणकुमार संत की विशेष टीम गठित की गई। मामले की जांच औद्योगिक क्षेत्र थानाधिकारी सवाई सिंह को सौंपी गई थी। गत दिनों इस मामले में पुलिस ने शुटर रवि उर्फ भोला पुत्र उम्मेदसिंह यादव निवासी यादव कॉलानी झझर हरियाणा, चौथाराम पुत्र खंगारराम भील निवासी मणिहारी, गुणेशराम पुत्र ढलाराम देवासी निवासी मणिहारी को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेजा था।

आरोपी भोला हरियाणा का शुटर है। उसके गोली लगने पर एक निजी अस्पताल से पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था। उसने पूछताछ में राज खोला कि जब्बर सिंह की हत्या के लिए उसे भेजा गया था। जांच में इन शुटर को बुलाने में डरी हाल राजेन्द्र नगर पाली निवासी सुरेश सिंह पुत्र सोहन सिंह रावणा राजपूत की भूमिका सामने आई। सुरेश सिंह पिछले चार माह से फरार था। एक दिन पूर्व मुखबिर से इत्तला मिली कि वह फलोदी में छुपा हुआ है। पाली पुलिस ने उसे वहां से गिरफ्तार किया। उससे हथियारों के बारे में पूछताछ जारी है।

संदीप उर्फ कालाजठेड़ी के गुर्गे बुलाए
जांच अधिकारी सवाई सिंह के अनुसार पूछताछ में सुरेश ने बताया कि वर्ष 2015 में उसके खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज हुआ था। इसमें जब्बर सिंह ने उसे समझौता करवाने का आश्वासन देते हुए धोखा किया था। तब से वह जब्बर सिंह मणिहारी से रंजिश रखता था और उसकी हत्या की ठानी थी। उसकी हत्या के लिए उसने हरियाणा के अपराधी संदीप उर्फ कालाजठेड़ी से सम्पर्क किया। वह उनकी गैंग के सम्पर्क में था। कालाजठेड़ी ने जब्बरसिंह की हत्या के लिए भोला को भेजा था, लेकिन भोला भी गोली लगने से घायल हो गया था। इस मामले में पुलिस कालाजठेड़ी सहित कई और आरोपियों की तलाश जारी है।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned