निकाय चुनाव बाड़ाबंदी : अगले दो दिन सभी उम्मीदवार महंगे मेहमान, बाजी हारी तो नापेंगे घर का रास्ता

-मतदान के बाद प्रत्याशियों को पार्टियों ने बाड़ाबंदी में भेजा

By: Suresh Hemnani

Published: 30 Jan 2021, 09:57 AM IST

पाली। चुनाव कोई भी हो बाड़ाबंदी अब ‘सियासी रवायत’ बन गई है। प्रत्याशी भी सियासी सैर का लुत्फ उठाने में पीछे नहीं रहते। मतदान से लेकर चुनाव परिणाम तक हर एक प्रत्याशी राजनीतिक दलों के लिए महंगे मेहमान होते हैं, लेकिन परिणाम के बाद मेहमानों की संख्या आधी रह जाती है। चुनाव हारने वालों को घर का रास्ता दिखा दिया जाता है। जिले के सात निकायों में बुधवार को हुए चुनावों के बाद भाजपा व कांग्रेस ने अपने-अपने प्रत्याशियों को बाड़ाबंदी में भेज दिया है। सभी उम्मीदवार सियासी सैर पर है। सातों निकायों में भाजपा व कांग्रेस अपना बोर्ड बनाने के प्रयासों में जुटी है। मतदान के तत्काल बाद उम्मीदवारों को सुरक्षित स्थानों पर बाड़ाबंदी में भेज दिया गया है। पार्टी के नेता एक-एक उम्मीदवार पर निगरानी रख रहे हैं।

जैतारण। जैतारण नगरपालिका के चुनाव सम्पन्न होते ही भाजपा व कांग्रेस ने अपना बोर्ड बनाने के लिए अपने प्रत्याशियों की बाड़ेबंदी कर दी। गुरुवार को पांच बजे चुनाव सम्पन्न होते ही अपने -अपने प्रत्याशियों की बाड़ेबंदी कर दी गई। भारतीय जनता पार्टी ने शुक्रवार सवेरे अपने प्रत्याशियों को विधायक अविनाश गहलोत के कार्यालय पर एकत्रित किया गया। वहां से उन्हें सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया।

बाली/फालना। भाजपा ने बाली, फालना और सादड़ी में बोर्ड बनाने के लिए सभी उम्मीदवारों को बाड़ाबंदी में भेजा है। वहीं कांग्रेस भी अपने प्रयासों में जुट गई है। विधायक पुष्पेन्दसिंह राणावत ने पार्टी की कमान संभाली है। कांग्रेस में पूर्व जिलाध्यक्ष अभिमन्युसिंह, जसवंतराज मेवाड़ा, रतन जणवा ने रणनीति बनाई। नगरपालिका खुड़ाला-फालना में कांग्रेस बंटी हुई दिख रही है। एक खेमे का नेतृत्व सोमेन्द्र गुर्जर कर रहे हैं। इधर, निर्वाचन विभाग ने मतगणना की तैयारियां शुरू कर दी है।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned