दो विभागों के आपसी समन्वयक के अभाव में पेयजल कनेक्शन से नहीं जुड़ पा रही आंगनबाड़ी केन्द्र

ग्राउंड रिपोर्ट - जिले में 1595 आंगनबाड़ी केन्द्रों में नहीं है पेयजल कनेक्शन

By: Om Prakash Tailor

Published: 16 Apr 2021, 08:50 PM IST

पाली. कोरोना के चलते इन दिनों आंगनबाड़ी केन्द्रों पर नौनिहाल नहीं आ रहे है। ऐसे में सरकार आंगनबाड़ी केन्द्रों की सूरत संवारने में जुटी है। इसी के तहत पेयजल कनेक्शन से विहिन केन्द्रों को सरकार प्रधानमंत्री जलजीवन मिशन योजना के तहत पेयजल कनेक्शन से जोडऩे की क्रियान्विति में जुड़ी है। ेलेकिन पाली जिले में समेकित बाल विकास विभाग एवं जलदाय विभाग में आपसी समन्वय के अभाव में केन्द्रों को पेयजल कनेक्शन से जोडऩे का कार्य शुरू तक नहीं हो पाया है।

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से पूछ रहे कहां से गुजर रही पाइप लाइन
जिले में 1828 आंगनबाड़ी केन्द्रों में से 1595 केन्द्रों में पेयजल कनेक्शन नहीं है। प्रधानमंत्री जलजीवन मिशन योजना के तहत जलदाय विभाग के जरिए इन केन्द्रों में निशुल्क पेयजल कनेक्शन किए जाने है। लेकिन स्थिति यह है कि जलदाय विभाग के अधिकारी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से ही पूछ रहे है कि उनके केन्द्र के निकट से पाइप लाइन गुजर रही हैं या नहीं, अगर गुजर रही है तो केन्द्र से कितनी दूरी से गुजर रही है। जैसी जानकारी मांग रहे है। जबकि हकीकत यह है कि अधिकतर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को इसकी जानकारी नहीं है।

जानकारी जुटाने में जुटी कार्यकर्ता
पेयजल पाइप लाइन केन्द्र के निकट से गुजर रही है या नहीं आदि जानकारी एकत्रित करने में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता जुटी हुई है। सभी दस ब्लॉक की जानकारी एकत्रित कर समेकित बाल विकास विभाग की ओर से जलदाय विभाग को सौंपी जाएगी। उसके बाद पेयजल कनेक्शन करने को लेकर जलदाय विभाग अपनी कार्रवाई शुरू करेगा।

तीन ब्लॉक की जानकारी दी
केन्द्र के निकट से कहां से पाइप लाइन गुजर रही है यह जानकारी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को नहीं थी। जलदाय विभाग द्वारा जानकारी मांगी जाने पर कार्यकर्ताओं को इस काम में लगाया। अभी तक तीन ब्लॉक की जानकारी एकत्रित कर जलदाय विभाग को सौंपी है।
- शांता मेघवाल, उपनिदेशक, समेकित बाल विकास विभाग, पाली

जानकारी मिलने ही शुरू कर देंगे काम
आंगनबाड़ी केन्द्रों के निकट से पाइप लाइन गुजर रही है या नहीं इसकी जानकारी मांगी है। वह मिलने के बाद पेयजल कनेक्शन करने की कार्रवाई शुरू कर देंगे।
- गोपेश गर्ग, एसई, पीएचईडी, पाली

Om Prakash Tailor
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned