Asharam Rape Case LIVE UPDATE : आने वाला है बड़ा फैसला, जेल में बनी कोर्ट में सुनवाई जारी...

- कुछ ही देर आएगा आसाराम पर फैसला
- कोर्ट की कार्यवाही हुई शुरू

By: Avinash Kewaliya

Published: 25 Apr 2018, 10:45 AM IST

जोधपुर।

- कुछ ही देर आएगा आसाराम पर फैसला
- कोर्ट की कार्यवाही हुई शुरू
- जज मधुसूदन शर्मा कर रहे सुनवाई
- जज के अलावा 14 अधिवक्ता मौजूद
- दो सरकारी अधिवक्ता भी मौजूद
- मामले को लेकर उत्सुकता का माहौल
- दुनिया भर में समर्थकों की फैसले पर नज़र

 

 

सुनवाई के लिए सेंट्रल जेल में बैरक नंबर दो के पास विशेष कोर्ट बनाई गई थी। सुरक्षा के मद्देनजर जेल व शहर में करीब दो हजार पुलिसकर्मी तैनात रखे गए। आसाराम के आश्रम समेत बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, प्रमुख नाकों पर पुलिस बल तैनात किया गया। बरकततुल्ला खां स्टेडियम व राजकीय उम्मेद स्टेडियम में अस्थाई निरुद्ध गृह बनाए गए, ताकि समर्थकों को पकड़कर वहां रखा जा सके। इधर, फैसले से पहले आसाराम के समर्थक उसकी रिहाई को लेकर आश्रम में अखंड जाप करते रहे।

 

चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात
आसाराम के पाल आश्रम में अस्थाई पुलिस चौकी स्थापित की गई। पुलिस ने मंगलवार को दो समर्थकों पकड़ कर उनके गृह नगर रवाना किया। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने दो बार जेल का दौरा कर जेल डीआईजी विक्रम सिंह से सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा की। पुलिस लाइन से जेल मार्ग तक पुलिस ने शाम को रूटमार्च किया। जेल में आरएसी के 75 जवान तैनात किए गए हैं।

 

मीडिया के प्रवेश की अर्जी खारिज
इससे पहले जेल में कवरेज के लिए हाईकोर्ट में मीडियाकर्मियों की ओर से लगाए गए प्रार्थना पत्र को कोर्ट ने खारिज कर दिया।

 

स्टेशन का पिछला गेट बंद
आसाराम समर्थकों के ट्रेन से पहुंचने की सूचना के बाद रेलवे ने जेल की ओर खुलने वाले जोधपुर मुख्य रेलवे स्टेशन के दूसरे द्वार को बुधवार रात 12 बजे तक के लिए बंद कर दिया। रेलवे के वरिष्ठ जन संपर्क अधिकारी गोपाल शर्मा ने बताया कि मंगलवार देर शाम से द्वार से प्रवेश व निकासी पर रोक लगा दी गई। रातानाडा की ओर वाले द्वार को पूरी तरीके से बंद कर दिया गया है।

 

56 माह से जेल में
- आसाराम इस प्रकरण में सितंबर, 2013 से जेल में बंद रहा
- प्रकरण की तकरीबन रोजाना कोर्ट में सुनवाई हो रही थी
- 58 गवाहों की अभियोजन पक्ष की सूची
- 50 से अधिक गवाहों की बचाव पक्ष की सूची
- 44 अभियोजन पक्ष के गवाहों से जिरह-गवाही
- 31 बचाव पक्ष के गवाहों से जिरह-गवाही

Avinash Kewaliya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned