मंत्री के विरोध में उतरे आयुर्वेदिक चिकित्सक

मंत्री के विरोध में उतरे आयुर्वेदिक चिकित्सक

Om Prakash Tailor | Updated: 20 Jul 2019, 12:26:38 PM (IST) Pali, Pali, Rajasthan, India

मंत्री का फैसला नीतिगत नहीं

पाली। राजस्थान आयुर्वेद विभागीय चिकित्सक संघ की ओर से शुक्रवार को जिला कलक्टर को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। जिसमें बताया कि 30 मई को चिकित्सा एवं आयुर्वेद मंत्री (Minister of Medical and Ayurveda Rajsthan) की अध्यक्षता में बैठक आयोजित हुई। जिसमें आयुर्वेद विभाग के चिकित्सकों/कार्मिकों के लिए बुखार के रोगियों की ब्लड स्लाइड (Blood slide) निर्माण एवं मौसमी बीमारियों की मॉनिटरिंग तथा सुपरविजन कार्य संबंधी आदेश जारी करने का निर्णय लिया गया था। ज्ञापन में बताया कि आयुर्वेद विभाग में ब्लड स्लाइड निर्माण के लिए न तो कोई लेब टेक्नीशियन (Lab technician) का पद सृजित है ओर न ही सुपरवाइजर (Supervisor) का। जबकि चिकित्सा, स्वास्थ्य विभाग में दोनों ही पद सृजित है। अलग से मलेरिया विभाग भी संचालित है। ये कार्य वर्षों से इसी विभाग की ओर से किया जा रहा है। नई परिपाटी लागू करने का औचित्य नहीं। ज्ञापन में बताया कि अधिकतर औषधालय एकल कर्मचारी के भरोसे चल रहे है। वर्तमान में करीब 1100 से अधिक पद नर्स/कम्पाउंडर (Nurse / Compounder) के रिक्त है तथा 80 प्रतिशत पद परिचारकों के रिक्त है। लैब टेक्नीशियन का कार्य आयुर्वेद विभाग के चिकित्साधिकारियों द्वारा मात्र प्रशिक्षण (Training) देकर सम्पन्न करवाना उचित नहीं है। इसको लेकर आयुर्वेद चिकित्सकों में रोष है।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned