रणनीति में कांग्रेस कमजोर, भाजपा पड़ रही भारी

पंचायतीराज चुनाव 2020 :

By: Suresh Hemnani

Published: 30 Oct 2020, 09:22 AM IST

पाली। जिला परिषद व पंचायत समिति सदस्यों के चुनाव का बिगुज बजते ही प्रदेश की विपक्षी पार्टी भाजपा पूरी तरह से सक्रिय है। भाजपा ने अपनी फिल्डिंग जमा दी है। जिला परिषद और पंचायत समिति की एक-एक सीट पर पार्टी ने माइक्रो लेवल पर तैयारी की है। चुनाव प्रभारी नियुक्त करना भी भाजपा का बड़ा कदम माना जा रहा है। जबकि दूसरी तरफ, प्रदेश की सत्ता पर काबिज कांग्रेस में पार्टी स्तर पर अभी कोई हलचल नहीं दिख रही है। पार्टी का संगठनात्मक ढांचा भी खड़ा नहीं किया गया है। ऐसे में चुनावी रणनीति में कांग्रेस प्रारंभिक रूप से पिछड़ती दिख रही है। कांग्रेस से चुनावी दावेदारी कर रहे लोग भी असमंजस की स्थिति में है।

कांग्रेस की पतवार किसके हाथ?
पंचायतीराज चुनावों में एक सवाल फिर से तैर रहा है कि कांग्रेस की पतवार किसके हाथ में रहेगी। यानि टिकटों का फैसला कौन करेगा, यह अभी तय नहीं है। पार्टी ने जिलाध्यक्ष भी नियुक्त नहीं किया है और न ही पुराने अध्यक्ष को कमान संभलाने जैसी स्थिति दिख रही है। जिले में पार्टी का कोई एक सर्वमान्य नेता भी नहीं है, जिसके बूते चुनावी तैयारी की जा सके। पार्टी स्तर पर अब तक कोई गाइड लाइन जारी नहीं होने से प्रत्याशियों के चयन के मापदंड, आवेदन प्रक्रिया इत्यादि भी तय नहीं है।

चुनाव सिर पर, हस्ताक्षर अभियान में जुटे पार्टी नेता
जिला परिषद व पंचायत समिति सदस्यों के लिए नामांकन प्रक्रिया 4 नवम्बर से शुरूकर 9 नवम्बर तक होगी। प्रत्याशियों के चयन के लिए काफी कम समय बचा है। इसके बावजूद पार्टी अब तक चुनावी तैयारियों में जुटने की बजाय कृषि बिल के विरोध में हस्ताक्षर अभियान चलाने में जुटी है। जिले में कई जगह कांग्रेस नेता हस्ताक्षर अभियान में व्यस्त है।

भाजपा की माइक्रो प्लानिंग
वैसे तो जिले में भाजपा का दबदबा है। लोकसभा और विधानसभा चुनावों में कांग्रेस कहीं नहीं टिकी। पंचायत समितियों में भी भाजपा का वर्चस्व रहा है। इसके अलावा पार्टी ने चुनाव जीतने के लिए भी माइक्रो लेवल की प्लानिंग की है। एक-एक सीट पर नजर रखी जा रही है। प्रत्याशियों से आवेदन लिए जाएंगे। हर पंचायत समिति पर चुनाव प्रभारी नियुक्त किए गए हैं। सभी आवेदनों पर कोर कमेटी में फैसला किया जाएगा। अंतिम नामों पर निर्णय करने के बाद प्रदेश को सूची भिजवाई जाएगी। चुनाव प्रभारी बाबूसिंह राठौड़ व सहप्रभारी पूनाराम चौधरी एक दौर की बैठक लेकर स्थानीय पार्टी नेताओं को सक्रिय कर गए हैं।

आवेदन प्रक्रिया शुरू
जिला परिषद व पंचायत समिति सदस्य का चुनाव लडऩे वालों से शुक्रवार को आवेदन लिए जाएंगे। सभी पंचायत समितियों में अलग से चुनाव प्रभारी बना दिए गए हैं। आवेदन पत्र लेकर 2 को प्रदेश आलाकमान के साथ बैठक होगी। इसके बाद प्रदेश से ही नाम अंतिम रूप से तय किए जाएंगे। -मंशाराम परमार, जिलाध्यक्ष, भाजपा

कांग्रेस में चल रही तैयारियां
पार्टी स्तर पर तैयारी चल रही है। किसान विरोधी बिल के साथ-साथ चुनावी तैयारियों में भी लगे हुए हैं। कई जगह ब्लॉक की बैठकें में भी हो रही है। एकजुटता से पार्टी पूरी तैयारी के साथ चुनाव लड़ेगी और जीतेगी। -खेतसिंह मेड़तिया, प्रदेश सचिव, कांग्रेस

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned