पाली : पूर्व विधायक, भाजपा जिलाध्यक्ष समेत 12 के खिलाफ अपहरण और मतदान से रोकने का मामला दर्ज

-भाजपा के ही पंचायत समिति सदस्य ने दर्ज कराया मामला
-आरोपियों में अधिकांश भाजपा नेता

By: Suresh Hemnani

Published: 24 Dec 2020, 09:06 AM IST

पाली। जिले के रानी पंचायत समिति में प्रधान पद के चुनाव में मतदान करने से रोकने, अपहरण, मारपीट और जातिगत शब्दों से अपमानित करने के आरोपों को लेकर भाजपा के ही एक पंचायत समिति सदस्य ने पंचायत चुनाव प्रभारी और पूर्व विधायक बाबूसिंह राठौड़, भाजपा जिलाध्यक्ष मंशाराम परमार, भाजपा ओबीसी मोर्चा जिलाध्यक्ष खीमाराम ढारिया, रानी प्रधान के पति गिरधारीसिंह मेड़तिया और भंवरसिंह मंडली समेत एक दर्जन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। पुलिस अधीक्षक ने मामले की जांच सीओ बाली को सौंपी है।

पुलिस अधीक्षक राहुल कोटोकी ने बताया कि रानी थाना क्षेत्र के सेपटावा निवासी दूदाराम पुत्र लखमाराम ने रिपोर्ट दी कि उसने भाजपा के सिंबल पर पंचायत समिति का चुनाव जीता था। 7 दिसम्बर को शाम पांच बजे चुनाव प्रभारी बाबूसिंह राठौड़, पूर्व पार्षद सुरेश चौधरी, खीमाराम ढारिया और जिलाध्यक्ष मंशाराम परमार आंकड़ावास गांव से जबरदस्ती गाडिय़ों में भरकर कुंभलगढ़ ले गए। भाजपा के सिंबल से चुनाव जीते इन्द्रसिंह मेड़तिया, लालीदेवी और रतनलाल मेघवाल को भी साथ लिया। कुंभलगढ़ के जंगल में उन्हें एक होटल में ठहराया गया।

दूसरे दिन किसी अन्य होटल में ठहराया। वहां पर उन्हें बंदूक दिखाकर रोजाना डराया धमकाया गया। 10 दिसम्बर को उन्हें अलग गाड़ी से रवाना किया गया। रास्ते में नारायणसिंह आकड़ावास के फार्म हाउस पर ले जाया गया। यहां भी प्रधान पद के लिए उनके कहे उम्मीदवार को वोट देने के लिए दबाव बनाया गया। तत्पश्चात चुनाव प्रभारी राठौड़ ने पांच लाख रुपए का प्रलोभन देकर वोट उनके कहे अनुसार ही देने को कहा। यहां से उन्हें बस द्वारा आगे ले जाया गया। रास्ते में भंवरसिंह मंडली और उनके साथी आए। उन्होंने पिस्तौल से धमकाया। उनके बॉडीगार्ड ने भी बंदूक दिखाई और डराया।

हम चारों को दोबारा नारायणसिंह आकड़ावास के फार्म हाउस पर ले जाया गया और मतदान से वंचित कर दिया। इस पूरे षडयंत्र में भंवरसिंह, गिरधारीसिंह बोलागुड़ा, किशनसिंह, गोविंदसिंह, नारायणलाल कुमावत, अजयपालसिंह, नरपतसिंह राजपुरोहित और अमरसिंह समेत 5-6 वाहनों में 25 से ज्यादा लोग शामिल थे। पुलिस ने परिवादी की रिपोर्ट पर आरोपियों के खिलाफ अपहरण, मारपीट, एससीएसटी एक्ट समेत विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू की है।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned