ऑनलाइन शॉपिंग के दीवाने ठगों के निशाने पर, खाते से निकाल रहे जमा पूंजी

- ठगी के शिकार बनने से बचने के लिए रहें सतर्क
- सोशल मीडिया पर आने वाले किसी भी लिंक नहीं कर रहे क्लिक

By: Suresh Hemnani

Published: 30 Aug 2020, 02:00 PM IST

पाली/रायपुर मारवाड़। भीड़भाड़ से बचने के लिए लोगों में ऑनलाइन शॉपिंग [ shopping online ] करने का क्रेज बढ़ रहा है, लेकिन लोगों की ऐसी दीवानगी के बीच यूपी का एक गिरोह सक्रिय हो चुका है। ये गिरोह उन लोगों से मोबाइल पर सीधा सम्पर्क साध रहा है, जो ऑनलाइन शॉपिंग ज्यादा कर रहे हैं। वे लक्की ऑफर का झांसा देकर लिंक भेज रहे हैं। जिसे ओपन करते ही बैंक खाते से जमा पूंजी गायब हो रही है।

बीते सात दिनों में पाली जिले के ऐसे दर्जनों लोगों के मोबाइल पर उस गिरोह ने सम्पर्क साधा है। वे अलग-अलग नम्बर से कॉल कर रहे हैं। वे अपना परिचय बेंगलूरू शॉपिंग सेल हेड के रूप में दे रहे हैं। जिन नम्बरों से वे कॉल कर रहे हैं उनमें अधिकांश नम्बर उत्तर प्रदेश के विविध शहरों से एक्टिवेट हो रखे हैं। एक ने तो अपना पूरा नाम पता भी बताया है। जिसमें नाम गोपाल भाटिया बताते हुए अपना पत्ता मथुरा का दिया है।

यों दे रहे झांसा
इस गिरोह के पास उन लोगों की लम्बी लिस्ट है जो ऑनलाइन शॉपिंग में ज्यादा दिलचस्पी रखते हैं। गिरोह द्वारा उन लोगों को कॉल कर ये कहा जा रहा है कि आपने बीते छह माह में सबसे ज्यादा ऑनलाइन शॉपिंग की है। जिससे कम्पनी ने लक्की कस्टमर की श्रेणी में लेते हुए कैश ऑफर देना तय किया है। जिसमें साढ़े सात लाख रुपए दिए जाएंगे। लेकिन, इससे पहले इनाम राशि का जीएसटी चुकाना होगा। जीएसटी राशि जमा कराने के लिए वे लिंक भेजते हैं, जिस पर क्लिक करते ही गिरोह ने सारी जमा पूंजी साफ कर दी।

जो सर्तक वे बच गए
पत्रिका के पास ऐसे कई लोगों ने गिरोह से हुई बातचीत का वॉइस रिकॉर्डिंग उपलब्ध कराया है। पिपलिया कलां के कानाराम ने भी पत्रिका को गिरोह से हुई बातचीत को साझा करते हुए बताया कि गिरोह ने उन्हें बार-बार कॉल कर लिंक ओपन करने को कहा, लेकिन ठगी की आशंका से वे बच गए।

सर्तक रहें, झांसे में न आएं
ऑनलाइन शॉपिंग करते समय ही संबधित कम्पनी ऑफर के बारे में क्लीयर कर देती है। ऐसे में कोई कॉल कर कैश ऑफर का झांसा देकर लिंक ओपन करने का बोले तो सावधान रहें। ऑनलाइन ठगी करने वाले हर बार नया तरीका अपनाते हैं। ऐसे में स्वयं सजग रहें और ठग गिरोह के झांसे में नहीं आएं। -राहुल कोटोकी, पुलिस अधीक्षक, पाली

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned