साढ़े सात एमएलडी में विफल सीइटीपी को अब 11 एमएलडी की अनुमति

सीइटीपी फाउंडेशन की आमसभा

पाली. पर्यावरणीय नियमों के अनुरूप साढ़े सात एमएलडी पानी ट्रीट करने में विफल रहने वाले सीइटीपी के प्लांट संख्या 6 को अब 11 एमएलडी पानी ट्रीट करने की अनुमति मिली है। सीइटीपी में अब कपड़ा इकाइयों से 11 एमएलडी पानी लिया जा सकेगा। प्लांट की क्षमता 12 एमएलडी पानी ट्रीट करने की है।

प्रदूषण नियंत्रण मंडल के आदेश पर सीइटीपी प्लांट संख्या 6 को पिछले काफी समय से साढ़े सात एमएलडी पर संचालित किया जा रहा था। इस कारण औद्योगिक इकाइयों को रोटेशन प्रणाली पर चलाया जा रहा है। गौरतलब है कि सभी प्लांटों की क्षमता 48 एमएलडी के करीब है।

प्लांट क्रमोन्नति के प्रयास तेज, आज खुलेगी बिड

सीइटीपी प्लांट 6 को जेडएलडी में क्रमोन्नत करने के प्रयास तेज हो गए हैं। इसकी निविदाएं जारी की जा चुकी है तथा 15 जनवरी को निविदादाताओं से बिड प्राप्त की जाएगी। इसके पश्चात बोर्ड ऑफ डायरेक्टर की बैठक में बिड खोली जाएगी। जेडएलडी के लिए केन्द्र सरकार से सौ करोड़ का अनुदान भी मिलेगा।

सीइटीपी की बैठक में उद्यमियों को हिदायत

सीइटीपी फाउंडेशन की आमसभा मंगलवार को मंडिया रोड स्थित सभागार में अध्यक्ष अनिल गुलेच्छा की अध्यक्षता में आयोजित की गई। इस दौरान अध्यक्ष गुलेच्छा ने कहा कि एनजीटी और प्रदूषण नियंत्रण मंडल के आदेशों की पालना अनिवार्य रूप से करनी है। उन्होंने प्लांट के अपग्रेडेशन को लेकर अब तक किए गए प्रयासों से भी अवगत कराया।

सचिव अरुण जैन ने बताया कि प्रदूषण नियंत्रण मंडल के आदेशों की पालना कराने के लिए बैठक का आयोजन किया गया। इसमें सभी उद्यमियो को प्राथमिक उपचार के बाद ही सीइटीपी तक पानी भेजने के निर्देश दिए। सीइटीपी को मानकों पर लाने के लिए भी चर्चा की गई। दोपहर तीन बजे शुरू हुई बैठक में कई उद्यमियों ने सीइटीपी की आर्थिक व्यवस्था के लिए जिम्मेदार लोगों के विरुद्ध कार्रवाई का मुद्दा भी उठाया। फ्लोमीटर एवं स्काडा का संचालन सुचारू करने की भी हिदायत दी। इस मौके पर उपाध्यक्ष अमरचंद समदडिय़ा, कोषाध्यक्ष सुरेशचंद गुप्ता, निदेशक रवि मेहता, प्रकाश गुंदेचा, संदीप मेहता, प्रकाशचंद लसोड़, रंगराज मेहता और आरटीएचपी अध्यक्ष विनय जैन समेत कई उद्यमी मौजूद रहे।

rajendra denok Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned