scriptChildren's crematorium land recorded in revenue record in Sojat | जनता जीती, लालफीताशाही हारी...धन्यवाद पत्रिका | Patrika News

जनता जीती, लालफीताशाही हारी...धन्यवाद पत्रिका

सालों बाद मिली जीत, आखिर माना प्रशासन, सोजतरोड में बाल श्मशान के नाम जमीन राजस्व रेकर्ड में दर्ज
-पूर्व में उच्च न्यायालय व तत्कालीन तहसीलदार ने कर दिए थे आदेश
-2018 में भरा जा चुका था म्यूटेशनए अब राजस्व रेकर्ड में आया बाल श्मशान का नाम
-पत्रिका बनीं जनता की आवाज

पाली

Published: November 19, 2021 08:36:30 am

पाली/सोजतरोड। दुनिया से रुखसत हो चुके मासूमों को दफनाने के उपयोग में ली जा रही जमीन को आखिरकार राजस्व रेकर्ड में बाल श्मशान के नाम दर्ज कर दिया गया है। करीब 20 सालों से इस जमीन को राजस्व रेकर्ड में बाल श्मशान के नाम दर्ज कराने को लेकर कस्बे के कुछ लोग लम्बी लड़ाई लड़ रहे थे। जबकि, 2018 में तत्कालीन तहसीलदार की ओर से इस सम्बन्ध में आदेश के बाद भी राजस्व विभाग के स्थानीय अधिकारी व कार्मिक इस मामले को अटकाए हुए थे। जनहित में राजस्थान पत्रिका ने इस मामले को प्रमुखता से उठाया और सिलसिलेवार समाचार प्रकाशित किए। आखिरकार सोजत के कार्यवाहक तहसीलदार ने इस भूमि को राजस्व रेकर्ड में बाल श्मशान के नाम दर्ज करवाने के लिए आदेश जारी कर दिए। म्यूटेशन के दस्तावेज ऑनलाइन होने से कस्बेवासियों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।
जनता जीती, लालफीताशाही हारी...धन्यवाद पत्रिका
जनता जीती, लालफीताशाही हारी...धन्यवाद पत्रिका
दरअसल, सोजतरोड कस्बे में फुलाद रोड पर खसरा नम्बर 199 रकबा 0.4600 हैक्टेयर भूमि बाल श्मशान के रूप में भूमि उपयोग में ली जा रही थी। लेकिन, ये जमीन खातेदारी में दर्ज हो गई थी। इस पर कस्बे के कुछ लोगों ने न्यायालय की शरण ली, जिस पर ये मामला पहले मुंसिफ कोर्ट, फिर एडीजे कोर्ट व हाइकोर्ट पहुंचा। जहां श्मशान भूमि के पक्ष में फैसला आया था। इसके बाद 2018 में भी तत्कालीन तहसीलदार ने भी श्मशान के नाम जमीन को राजस्व रेकर्ड में दर्ज करने के लिए म्यूटेशन भरने के आदेश दे दिए थे। लेकिन, इतने सालों तक म्यूटेशन का मामला अटका रहा। पत्रिका ने इस सम्बन्ध में सिलसिलेवार समाचार प्रकाशित किए तो 11 नवम्बर को सोजत के कार्यवाहक तहसीलदार पीरूलाल ने सोजतरोड पटवारी नरेन्द्र कंवर को इस भूमि को श्मशान के नाम राजस्व रेकर्ड में दर्ज करने के आदेश जारी कर दिए। आदेश की पालना में 13 नवम्बर को पटवारी ने इन दस्तावेजों पर हस्ताक्षर कर दिए। 18 नवम्बर को खसरा नम्बर 199 रकबा 0.4600 हैक्टेयर भूमि को राजस्व रेकर्ड में बाल श्मशान भूमि के नाम दर्ज कर लिया गया।
जनहित मेें पत्रिका ने उठाया मुद्दा तो मिली जीत
राजस्थान पत्रिका ने श्मशान के नाम म्यूटेशन भराने के लिए जनहित में ये मुद्दा उठाया और दुनिया से रुखसत होने के बाद भी कराह रही मासूमों की आत्मा, कब मिलेगा हक, सीएमओ में पहुंची सोजतरोड की आवाज, जिला कलक्टर तक भी पहुंचाई पीड़ा, जनता की आवाज बुलंद, सांसद ने सीएम तक पहुंचाई ग्रामीणों की गुहार, सोजतरोड की जनता पूछ रही, कब मिलेगा मासूमों की रूह को सुकून, सालों तक लटकाए रखा श्मशान भूमि के म्यूटेशन का मामला, संदेह में आरआइ की भूमिका, म्यूटेशन भरने में ढिलाई से कस्बेवासी खफा- बोले:दोषियों के खिलाफ प्रशासन करें कार्रवाई शीर्षक से सिलसिलेवार समाचार प्रकाशित किए। आखिरकार प्रशासन ने जनहित में इस भूमि को राजस्व रेकर्ड में दर्ज करने के आदेश जारी कर दिए और 18 नवम्बर को म्यूटेशन के दस्तावेज ऑनलाइन अपलोड हो गए।
ज्ञापन सौंपे, एमपी ने भी भेजा था सीएम को पत्र
जब पत्रिका ने इस मुद्दे को उठाया तो जनता का भी साथ मिलने लगा। कस्बे के प्रदीपजराज सिंह, पंचायत समिति सदस्य अनिल कुमार व्यास, वार्ड पंच दलपतसिंह परिहार, सत्यनारायण सैन, हितेश व्यास, शिवचंद दाधीच सहित कई लोग जागरूक हुए और जिला कलक्टर तक अपनी पीड़ा पहुंचाई। यहां तक कि जनता से जुड़े इस मुद्दे को लेकर कस्बे के कुछ लोगों ने सीएमओ तक गुहार पहुंचाई थी। उन्हें ट्वीट भी किए थे। यहां तक कि पाली सांसद पीपी चौधरी ने भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र भेजा था।
जनहित मेें कोर्ट तक पहुंचे थे, अब मिली जीत की खुशी
कस्बे की इस जमीन को जनता के हित में श्मशान के नाम दर्ज कराने के लिए कस्बे के कुछ लोगों ने सालों तक लड़ाई लड़ी। यहां तक कि मुंसिफ कोर्ट से लेकर उच्च न्याायालय तक इस मुद्दे को उठाए रखा। जहां जीत मिली, लेकिन फिर भी इतने सालों से इस मामले को अटकाए रखा जा रहा था। इस लड़ाई में पूर्व सरपंच सम्पतराज मोदी, विजयसिंह, डीआर टेलर आदि ने सालों तक मेहनत की। अब जबकि म्यूटेशन भरा जा चुका है तो इन्होंने इसे जनता के साथ ही पत्रिका के प्रयासों की जीत बताया।
बाल श्मशान के नाम म्यूटेशन भर दिया
सोजतरोड में फुलाद रोड पर खसरा नम्बर 199 की 0.4600 हैक्टेयर की जमीन का म्यूटेशन भर दिया गया है। राजस्व रेकर्ड में ये जमीन बाल श्मशान के नाम दर्ज हो गई है। म्यूटेशन के दस्तावेज ऑनलाइन अपलोड कर दिए गए हैं। -पीरूलाल, कार्यवाहक तहसीलदार, सोजत

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालइन 4 तारीखों में जन्मी लड़कियां पति की चमका देती हैं किस्मत, होती है बेहद लकी“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीमां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहकम उम्र में ही दौलत शोहरत हासिल कर लेते हैं इन 4 राशियों के लोग, होते हैं मेहनतीइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

राहुल गांधी ने फॉलोवर्स सीमित होने पर Twitter पर लगाया सरकार के दबाव में काम करने का आरोप, जानिए क्या मिला जवाबकेरल और कर्नाटक में 50 हजार तक सामने आ रहे नए केस, जानिए अन्य राज्यों का हालटाटा ग्रुप का हो जाएगा अब एयर इंडिया, कर्मचारियों को क्या होगा फायदा और नुकसान?झारखंड में नक्सलियों ने ब्लास्ट कर उड़ाया रेलवे ट्रैक, राजधानी एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों का रूट बदलाBudget 2022: इस साल भी पेश होगा डिजिटल बजट, जानें कैसे होगी छपाई5 करोड़ का मुआवजा पाने वाले किसान की गोली मारकर हत्या, पत्नी ने बेटे पर लगाया आरोपनीमच में जैन मुनि श्री की समाधि के लिए मुस्लिम व्यक्ति ने दी निशु:ल्क भूमि, हिन्दू-मुस्लिम भाई चारे का दिया परिचयRRB-NTPC Exam: पटना के खान सर समेत कई संस्थानों के खिलाफ एफआईआर, छात्रों को उकसाने का आरोप
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.