कोरोना का प्रभाव : खांसी-बुखार होते ही लोग करवा रहे सिटी स्कैन व एक्स-रे

-पाली के बांगड़ चिकित्सालय में बढ़ गए 50 प्रतिशत तक एक्स-रे
-रोजाना 10 से 15 लोग करवा रहे सिटी स्कैन

By: Suresh Hemnani

Published: 19 Apr 2021, 07:54 PM IST

पाली। कोरोना के मरीजों की संख्या में इजाफे के साथ ही एक्स-रे व सिटी स्कैन कराने वालों की संख्या भी तेजी से बढ़ी है। बांगड़ मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में ही एक्स-रे 50 प्रतिशत तक बढ़ गए है। वहीं सिटी स्कैन कराने के लिए भी रोजाना 10 से 15 लोग आ रहे है। जबकि दस-पन्द्रह दिन पहले तक फेफड़ों का सिटी स्कैन कराने वालों की संख्या एक-दो ही थी। अब तो हालात यह है कि जिन लोगों का आरटीपीसीआर (कोविड जांच) नेगेटिव आ रही है और उनमें कोविड जैसे लक्षण नजर आते है। उनको भी चिकित्सक सिटी स्कैन करवाकर उसमें आने वाले स्कोर को देखकर कोविड 19 का उपचार कर रहे हैं।

संक्रमण का खतरा अधिक
सिटी स्कैन व एक्स-रे में आने वाले मरीजों को रेडियोलॉजिस्ट विभाग के कार्मिकों को हाथ लगाना पड़ता है। ऐसे में आरटीपीसीआर नेगेटिव होने पर भी सिटी में पॉजिटिव दिखने वाले मरीजों के भी वे सम्पर्क में आ रहे हैं। इन दोनों विभागों के बाहर मरीजों की रोजाना लम्बी कतार लगती है। ऐसे में संक्रमण का खतरा रहता है। बांगड़ अस्पताल के आरएसओ व प्रभारी रेडियोलॉजिस्ट ओमप्रकाश पटेल ने बताया कि इसके अलावा इस विभाग में काम करने वालों को विकरणों से भी खतरा रहता है। इससे कैंसर के साथ ही आंखों की बीमारी, जेनेटिक बीमारियां होने का खतरा रहता है।

कोरोना के बढ़े मरीज
कोरोना के कारण मरीजों की संख्या बढऩे से एक्सरे व सिटी स्कैन भी अधिक होने लगी है। कई लोगों के आरटीपीसीआर नेगेटिव आने पर भी सिटी स्कोर अधिक आता है। इस पर उनका कोरोना के तहत उपचार किया जाता है।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned