तीसरा सत्र : मर्ज स्कूल में ही चलेगा कॉलेज, नहीं बन सका भवन

-सरकार ने की बजट की घोषणा, राशि आज तक नहीं मिली
-दानदाता द्वारा दी गई जमीन का नहीं हो पा रहा उपयोग

By: Suresh Hemnani

Published: 26 Jun 2020, 12:18 PM IST

पाली/रायपुर मारवाड़। जिले के रायपुर कस्बे के महाविद्यालय में तीसरा सत्र भी मर्ज स्कूल भवन में ही शुरू होने जा रहा है। कॉलेज भवन के लिए दानदाता जमीन दी तो सरकार ने छह करोड़ का बजट पारित किया था। वह बजट कागजों में ही सिमट गया। आज तक न तो टेंडर हुआ न ही भवन का निर्माण शुरू हो पाया है। इधर, कॉलेज में स्टाफ की कमी व सुविधाओं के अभाव के चलते विद्यार्थियों की संख्या भी नहीं बढ पा रही है। जिससे कॉलेज औपचारिकता का रूप ले चुका है।

दरअसल, कस्बे में भाजपा सरकार के समय कॉलेज की स्वीकृति जारी हुई। आजादी के बाद पहली बार कॉलेज खुला तो स्वंय का भवन नहीं होने की समस्या सामने आई। आनन-फानन में हाइवे पर मर्ज हो रखी करणी माता प्राइमरी स्कूल के भवन में ही कॉलेज शुरू कर दिया गया। जर्जर भवन का रंगरोगन भी दानदाताओं की मदद लेकर कराना पड़ा।

दानदाता ने दे दी जमीन
कस्बे के करणीसिंह ने कपूड़ी में जमीन को कॉलेज निर्माण के लिए उच्च शिक्षा विभाग को दान कर दी। कांग्रेस की मौजूदा सरकार ने कॉलेज भवन निर्माण के लिए पिछले साल छह करोड़ रुपए का बजट भी पारित कर दिया, लेकिन आज तक न तो टेंडर हुआ न ही भवन का निर्माण शुरू हो पाया है।

तीन साल बाद भी प्राचार्य की नियुक्ति नहीं
इस कॉलेज में प्राचार्य की नियुक्ति आज तक नहीं की गई है। कभी पाली तो ब्यावर कॉलेज के प्राचार्य को अतिरिक्त चार्ज दिया जाता रहा। अब इसी कॉलेज के व्याख्याता को प्राचार्य का चार्ज दे रखा है। स्टाफ की कमी तो शुरू से ही वरदान के रूप में मिली है। रिक्त पदों पर नियुक्ति को लेकर भी आज तक जिम्मेदारों ने ध्यान नहीं दिया है।

आज भी दूसरे कॉलेज की दौड़
कॉलेज मेंं रिक्त पदों व सुविधाओं की कमी के चलते आज भी क्षेत्र के अधिकांश छात्र-छात्राएं उच्च शिक्षा ग्रहण करने के लिए सोजत, जैतारण, ब्यावर के कॉलेज की दौड़ लगा रहे हैं।

कर रहे हैं जैसे-तैसे संचालन
कॉलेज भवन निर्माण के लिए छह करोड़ का बजट पारित हुआ था। आज तक न टेंडर हुआ न ही निर्माण शुरू हो पाया है। ऐसे में मर्ज स्कू  ल भवन में ही जैसे-तैसे संचालन कर रहे हैं। तीसरा सत्र शुरू करने की तैयारी शुरू कर दी है। कॉलेज मेंं प्राचार्य से लेकर अन्य कई पद रिक्त हैं। -रामावतार जाट, कार्यवाहक प्राचार्य, राजकीय महाविद्यालय, रायपुर

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned