पुलिस तक पहुंची शिकायत -‘सास समय पर खाना नहीं खिलाती’

हाल-ए- महिला हेल्पलाइन
- तीन माह में गिनी-चुनी शिकायतें, अधिकांश सास-बहू और पति के झगड़े से संबंधित

By: Suresh Hemnani

Updated: 08 Apr 2021, 09:01 AM IST

पाली। इसे जागरुकता का अभाव कहेंगे या झिझक व डर, या फिर योजना के प्रचार-प्रसार का अभाव, महिलाओं व बालिकाओं की सहायता व सुरक्षा के लिए जिला स्तर पर गठित महिला हेल्पलाइन में पिछले तीन माह में महज सात शिकायतें दर्ज हुई और उनमें पांच शिकायतें सास-बहू और पति के झगड़े से संबंधित है। जबकि छेड़छाड़ व महिला अत्याचार के पांच माह में 50 से अधिक मामले थानों में दर्ज हो चुके हैं। महिला हेल्पलाइन के टोल फ्री नम्बर 1090 पर छेड़छाड़ व मोबाइल पर परेशान करने की दो शिकायतें आई, जिस पर तत्काल कार्रवाई की गई।

कहीं भी नम्बर नहीं लिखे, कैसे करें शिकायत
मनचलों व रास्ते में महिलाओं से छेड़छाड़ की घटनाएं रोकने व ऐसे हालात में तुरंत पुलिस सहायता के लिए बनाई गई यह हेल्प लाइन महिलाओं में लोकप्रिय नहीं हो पाई। कॉलेज, स्कूल, ऑटो, मुख्य चौराहों सहित कहीं पर भी हेल्प लाइन के नम्बर नहीं लिखे हुए है। ऐसे में ये नम्बर छात्राओं, युवतियां व महिलाओं तक नहीं पहुंच पाए, लिहाजा शिकायतों की संख्या कम है।

आए दिन छेड़छाड़, जागरुकता नहीं
ऐसा नहीं है कि छात्राओं, महिलाओं व युवतियों से छेड़छाड़ की घटनाएं नहीं होती। घटनाएं होने के बावजूद ये महिलाएं या युवतियां बदनामी के डर से शिकायत नहीं करती है।

शिकायत करें
आए दिन मनचलों की गलत हरकतों का शिकार होने से अच्छा है कि उसके खिलाफ कदम उठाएं। टोल फ्री नम्बर 1090 पर महिलाएं व युवतियां शिकायत कर सकती है। - डॉ. तेजपाल सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, पाली

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned