आज एक जुलाई : स्कूल खुलेंगे या नहीं, अभी असमंजस

- विद्यार्थियों के एक जुलाई से स्कूल आने को लेकर असमंजस
- अभिभावक अभी बच्चों को स्कूल भेजने को नहीं तैयार

By: Suresh Hemnani

Published: 01 Jul 2020, 05:09 AM IST

पाली। कोरोना महामारी [ Corona virus outbreak ] के कारण मार्च में लॉकडाउन लगने के बाद से बंद स्कूलों में शिविरा पंचांग [ Shivira Panchang ] के अनुसार जून के अंतिम सप्ताह मेंं शिक्षकों को तो बुला लिया गया, लेकिन बच्चों को लेकर अभी तक कोई स्पष्ट निर्देश नहीं है। इधर, कोरोना के बढ़ रहे मामलों के कारण अभिभावक व शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ निजी स्कूल संचालक असमंजस में है। कई निजी स्कूल संचालकों ने तो अभी तक अभिभावकों से बच्चों को स्कूल भेजने को नहीं कहा है। जबकि अब बुधवार को ही एक जुलाई है। इधर, महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यमिक विद्यालयों की ओर से एक जुलाई से स्कूल खोलने का प्रचार तो किया गया था, लेकिन अब वहां भी सरकार से आदेश मिलने पर ही बच्चों को बुलाया जाएगा।

शिक्षक तैयार कर रहे परिणाम
शिक्षकों को जून के अंतिम सप्ताह में बुलाने के बाद स्कूलों को सेनेटाइज कराया गया। इसके बाद कार्यालय के रेकर्ड सहित अन्य कार्य करवाए जा रहे है। बच्चों का परिणाम भी तैयार किया जा रहा है। कई निजी स्कूल भी ऐसा कर रहे हैं।

सोशल डिस्टेंसिंग बड़ी समस्या
सरकारी व निजी स्कूलों में बच्चों के आने पर सोशल डिस्टेंसिंग रखना बड़ी समस्या होगा। इसे लेकर भले ही संस्था प्रधानों को आदेश दिए गए है, लेकिन कई स्कूल की कक्षा में 60 से 70 तक विद्यार्थी है। ऐसे में वहां सोशल डिस्टेंसिंग कैसे रहेगी। इसे लेकर भी संस्था प्रधान असमंजस में है।

आदेश नहीं मिले हैं
शिविरा पंचांग के अनुसार 1 जुलाई से बच्चों को बुलाया जाना है। वैसे कोरोना में बच्चों को नहीं बुलाने के आदेश के बाद अभी तक नए आदेश नहीं मिले है। सरकार से आदेश मिलने के अनुसार कार्रवाई की जाएगी। -श्यामसुंदर सोलंकी, संयुक्त निदेशक, शिक्षा मण्डल, पाली

अभिभावकों को नहीं दी सूचना
सरकार की गाइड लाइन नहीं होने के कारण अभी तक बच्चों व अभिभावकों को कोई सूचना नहीं दी गई है। गाइड लाइन पर करीब एक सप्ताह बाद ही स्कूल को शुरू किया जा सकता है। -जयशंकर त्रिवेदी, जिला प्रभारी, स्कूल शिक्षा परिवार, पाली

इतने स्कूल है जिले में
-राजकीय माध्यमिक व उच्च माध्यमिक 480
-राजकीय उच्च प्राथमिक व प्राथमिक 1252
-निजी स्कूल 900

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned