यहां सामान्य बीमारियों के मरीज घटे, कोरोना की ओपीडी 200 पार

कोरोना मीटर
-जिले में पॉजिटिव 41
-अब तक जांचे सैम्पल 2 लाख 4 हजार 548
-कोरोना से मौत 111
-जिले में एक्टिव केस 275

By: Suresh Hemnani

Published: 08 Apr 2021, 08:36 AM IST

पाली। होली के बाद बांगड़ मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में सामान्य सर्दी, खांसी, बुखार व जुकाम आदि के मरीजों की संख्या तो घटी, लेकिन कोरोना ओपीडी 200 के पार पहुंच गई है। इसकी संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है। कोरोना के वार्ड बढ़ाने के साथ कोरोना ओपीडी का स्थल बदलकर उसे भी बड़ा कर दिया गया है। एक से छह अप्रेल तक 1153 लोग कोविड की जांच करवाने पहुंचे। वहीं चार अप्रेल तक सामान्य ओपीडी में बुखार के मरीजों की संख्या 311 रही है। जबकि इससे पहले सामान्य ओपीडी में बुखार के रोजाना करीब 110 से तक आ रहे थे।

होली के बाद तेजी से बढ़ी ओपीडी
होली पर 28 व 29 को अवकाश था। अस्पताल में कम समय के लिए ओपीडी खुली। इस पर ओपीडी में आने वाले मरीजों की संख्या सामान्य से करीब 300 अधिक हो गई थी। जहां पहले 1500 के करीब ओपीडी थी। वह दो दिन तक लगातार 1800 से ऊपर रही। इसी तरह होली के अवकाश पर ओपीडी 637 व 332 ही रही। जबकि कोविड जांच 100 से अधिक रही।

दस माह 200 के करीब रहा आंकड़ा
इस माह कोरोना जांच का आंकड़ा 200 के करीब या उससे अधिक ही रहा है। माह के पहले दिन कोरोना की 150 जनों ने बांगड़ चिकित्सालय में जांच करवाई थी। इसके बाद दो अप्रेल को 181, तीन को 199, तीन को 190, चार को 212 व पांच को 221 मरीज आइटीपीसीआर जांच कराने पहुंचे।

सांस की तकलीफ के मरीज अधिक
कोरोना के बाद सांस की तकलीफ के मरीज भी अधिक आ रहे हैं। कोरोना ठीक होने के बावजूद अभी तक कई मरीजों की थोड़ा चलने या सीढिय़ां चढऩे पर सांस फूल जाती है। सहायक आचार्य डॉ. लक्ष्मण सोनी बताते है कि अभी जो कोरोना के मरीज आ रहे है। उनमें प्रथम लक्षण के रूप में बुखार आदि की शिकायत सामने आ रही है। सांस की तकलीफ कुछ दिन बाद नजर आ रही है।

एक्सपर्ट व्यू...डॉ. प्रवीण गर्ग, सहायक आचार्य, मेडिसन
पहले बुखार, खांसी आदि के मरीजों की सिटी स्कैन करवाने पर उनका स्कोर शून्य या बहुत कम आ रहा था। अब पिछले साल की तरह सिटी स्कैन का स्कोर 15 से 20 तक भी आ रहा है। यह निमोनिया है व कोरोना है। यह स्थिति बनने का कारण होली सहित विवाहोत्सव व पर्व है। लोग एक जगह पर एकत्रित हो रहे हैं। इससे संक्रमण बढ़ रहा है। कोरोना कम होने पर सैम्पलिंग 200 से 250 तक करना शुरू किया गया था। अब यह संख्या 1000 से 1500 तक पहुंच गई है। इससे भी कोरोना के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है।

अस्पताल में सामान्य व कोविड ओपीडी
दिनांक: बुखार के मरीज, कुल ओपीडी, कोविड ओपीडी
25 मार्च: 119, 1535, 98
26 मार्च: 110, 1503, 85
27 मार्च: 109, 1492, 153
28 मार्च: 49, 637, 106
29 मार्च: 42, 332, 160
30 मार्च: 144, 1849, 180
31 मार्च: 142, 1835, 154
1 अप्रेल: 97, 1678, 150
2 अप्रेल: 97, 1143, 181
3 अप्रेल: 79, 1581, 199
4 अप्रेल: 38, 873, 190

कोरोना से तीन दिन में दूसरी मौत, 41 पॉजिटिव
पाली। कोरोना का संक्रमण जिले में पैर पसारता जा रहा है। जिले में तीन दिन में बुधवार को एक और मौत कोरोना से हो गई। यह 63 वर्षीय व्यक्ति भी निमाज के पास पाटवा गांव का रहने वाला था, जिसकी जोधपुर के मथुरादास माथुर अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हुई। इधर, जिले में 41 नए पॉजिटिव आए है। जिले में सबसे अधिक बेड़ा क्षेत्र में 9 मरीज व सुमेरपुर में 5 मरीज मिले है। पाली शहर में 12 मरीज सामने आए है। जिले के सादड़ी, देसूरी, बाबा गांव, छोटी दुदाणी, टीपरी, लुणावा, बोया, बाली, फालना, सुमेरपुर, बलवाना, गलथनी, पोमावा, भंदर व बसंत में कोरोना पॉजिटिव मिले है। पाली शहर के रागणियां मोहल्ला, विद्या नगर, नवलखा रोड, नेहरू नगर, बजरंग नगर में दो, गजानंद नगर, आशापुरा टाउनशिप, हाउसिंग बोर्ड, वीडी नगर, स्टेशन पाली व सर्किट हाउस में पॉजिटिव आए है।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned