‘काळ’ के पैरों में बेडि़यां डालने में नाकाम, भेजने पड़े विशेष ‘कमाण्डो’

-प्रदेश के 13 जिलों में कोरोना वैक्सीनेशन की रफ्तार कम
-पाली में इस माह औसत 6500 लोगों ने लगवाई है कोरोना
-कोरोना वैक्सीन पिछले माह औसत 4300 लोगों के लगाई गई वैक्सीन

By: Suresh Hemnani

Published: 07 Apr 2021, 10:02 AM IST

-राजीव दवे
पाली। कोरोना के ‘काळ’ पर लगाम कसने के लिए १६ जनवरी से कोविड वैक्सीनेशन शुरू किया गया था। इसके लिए जिम्मेदारी सौंपी गई मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) व चिकित्सा अधिकारियों को, लेकिन प्रदेश के १३ जिलों में ७९ दिन गुजरने के बाद भी अपेक्षित प्रगति नहीं की जा सकी। इनमें पाली जिला भी शामिल है। जहां मार्च में औसत प्रथम डोज का टीकाकरण सिर्फ ४७३४ लोगों का ही किया जा सका। वहीं दूसरी डोज तो ४३६ लोगों को लगाई जा सकी। अप्रेल के पहले पांच दिन में प्रथम डोज औसत ६५५९ लोगों तथा दूसरी डोज का टीका १२३५ जनों को ही लगाया गया है।

राज्य अधिकारियों को भेजा जिलों में
इन हालातों को बदलने के लिए चिकित्सा स्वस्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग एवं राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन जयपुर की ओर से वैक्सीनेशन की मॉनिटरिंग व माइक्रोप्लान के लिए राज्य स्तरीय अधिकारी के साथ विश्व स्वास्थ्य संगठन व यूनीसेफ के अधिकारियों को भेजा गया है। जो १० अपे्रल तक विभिन्न जिलों में रहकर वैक्सीनेशन की रफ्तार को बढ़ाने में जुटे हैं।

इन जिलों में प्रगति नहीं रही बेहतर
पाली जिले के साथ ही प्रदेश के १३ जिलों में कोविड वैक्सीनेशन की गति अपेक्षा से कम रही है। इनमें चूरू, भरतपुर, उदयपुर, झुंझुनूं, बीकानेर, बाड़मेर, अजमेर, अलवर, सीकर, हनुमानगढ़, गंगानगर व भीलवाड़ा जिले शामिल है।

वैक्सीनेशन पहुंचाएंगे २५ हजार पर
वैक्सीनेशन की गति राज्य की तुलना में अधिक कम नहीं है। हमने एक दिन पहले ही १३००० का लक्ष्य हासिल किया है। इसे अब २५००० हजार पर पहुंचा देंगे। -डॉ. सुनील बिष्ठ, उप निदेशक, चिकित्सा विभाग, जोधपुर

ये सामने आ रहे वैक्सीनेशन कम होने के कारण
-त्योहारी सीजन : होली सहित अन्य पर्व व उत्सव होने के कारण लोग कोविड टीकाकरण करवाने के लिए वैक्सीनेशन सेंटर पर कम पहुंच रहे हैं।
-प्रथम डोज का टीकाकरण कराने के बाद कई लोगों को बुखार आदि की शिकायत हुई। इस पर वे दूसरा डोज लगवाने नहीं पहुंच रहे हैं।
-वैक्सीनेशन अनिवार्य नहीं किया गया है। इस कारण कई लोगों को सूचना भेजने पर भी वे टीकाकरण कराने नहीं पहुंच रहे हैं।

पाली में पिछले इतना हुआ वैक्सीनेशन (१ से ३१ मार्च)
सेशन १८८७
हैल्थ वर्कर : प्रथम डोज ५९५, द्वितीय डोज २४४७
फ्रंट लाइन वर्कर : प्रथम डोज १०६४, द्वितीय डोज १०४८७
४५ से ६० वर्ष तक : प्रथम डोज ११२६७, द्वितीय डोज ३१
६० वर्ष से ऊपर : प्रथम डोज १,२२,६९८, द्वितीय डोज ५८०

एक से पांच अप्रेल तक टीकाकरण
सेशन १५३
हैल्थ वर्कर : प्रथम डोज २८, द्वितीय डोज ६६
फ्रंट लाइन वर्कर : प्रथम डोज १६६, द्वितीय डोज ८४
४५ से ६० वर्ष तक : प्रथम डोज २१,१३७, द्वितीय डोज ७१०
६० वर्ष से ऊपर : प्रथम डोज १,१४,४६७, द्वितीय डोज ५३१८

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned