प्यासे कंठों की पीड़ा, पूरा गांव का आसरा एक टंकी, वो भी क्षतिग्रस्त

- पांच साल पहले टूट गई थी एक टंकी, अब तक नहीं बनी
- पर्याप्त पानी के बावजूद टंकी के अभाव में तीन दिन बाद मिलता पानी

By: Suresh Hemnani

Published: 16 Dec 2020, 10:04 AM IST

पाली/जैतारण। जिले के जैतारण क्षेत्र के आनंदपुरकालू गांव में स्थित धडों का वास में करीब पांच वर्ष पूर्व टंकी गिर जाने के कारण पूरे गांव में केवल एक ही टंकी व एक सीडब्ल्यूआर से जलापूर्ति होने के कारण गांव के भीतरी व ऊ परी भाग में उपभोक्ताओं को पेयजल संकट झेलना पड़ रहा है।

ग्रामीणों ने बताया कि गांव में जलापूर्ति अब जलदाय विभाग की करीब 20 वर्ष पूर्व बनी टंकी से हो रही है। जिनके दो पिलर व सीढियां भी क्षतिग्रस्त हैं। उसमें पानी भरा हुआ रहता है। ऐसे में कभी भी हादसा हो सकता है। इसी टंकी से पूरे गांव में पेयजल सप्लाई हो रही है। जबकि पांच वर्ष पहले धड़ा का वास में एक टंकी क्षतिग्रस्त होकर गिर चुकी है। उस टंकी से आधे गांव में जलापूर्ति हो रही थी। वापस टंकी नही बनने के कारण पूरे गांव में पर्याप्त जलापूर्ति नहीं हो पाती है।

पानी की आपूर्ति बढाने की मांग
आनंदपुरकालू निवासी सुरेशकुमार जाजू ने बताया कि गांव की नदी में स्थित तीन कुएं जलदाय विभाग के पास हैं। कांवलिया में स्थित ट्यूबवेल से भी पानी मिल रहा है। जलदाय विभाग के पास पर्याप्त स्रोत होने के बावजूद भी गांव में तीन दिन बाद जलापूर्ति करना उचित नहीं है। जिनेश कोठारी ने बताया कि ग्रामवासी जलापूर्ति का समय बढाने व नई टंकी बनाने की कई बार मांग कर चुके हैं लेकिन सुनवाई नहीं हो रही है।

एक और टंकी की आवश्यकता
गांव में पर्याप्त जलापूर्ति के लिए एक और टंकी की आवश्यकता है। गांव के ऊपरी भाग में पर्याप्त पानी नहीं पहुंचने के कारण लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। -बाबूलाल टांक, उप सरपंच, आनंदपुरकालु

उच्च अधिकारियों को बताई समस्या
गांव में जलापूर्ति के लिए पर्याप्त जलस्रोत है, लेकिन केवल एक ही टंकी होने के कारण गांव में बने सीडब्ल्युआर पर बूस्टर लगाकर पानी की सप्लाई की जा रही है। गांव के लिए एक और टंकी जरूरत है। जलदाय विभाग में टंकीक्षतिग्रस्त हो गई है। समस्या के समाधान के लिए विभाग के उच्च अधिकारियों को अवगत करवा दिया है। -सुशीला हिनोनिया, कनिष्ठ अभियंता, जलदाय विभाग, आनंदपुकालू

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned