यहां दवा विक्रेता करते एक ही सूई से शुगर की जांच, संक्रमण का खतरा

-सरपंच ने कलक्टर व सीएमएचओ से की शिकायत

By: Suresh Hemnani

Published: 11 Jan 2021, 10:43 AM IST

पाली/रायपुर मारवाड़। जिले के बर कस्बे के मेडिकल स्टोर पर दवा विक्रेताओं द्वारा मरीज के स्वास्थ्य की जांच करने के साथ ही रक्त के नमूने एक ही नीडिल से लिए जाने का मामला सामने आया है। इससे संक्रमण फैलने की आंशका को लेकर बर सरपंच ने कलक्टर व सीएमएचओ को शिकायत कर कार्रवाई की मांग की है। चिकित्सा मंत्री को मेल कर हालात से अवगत कराया है।

बर सरपंच महेन्द्र चौहान ने बताया कि बर में एक दर्जन से अधिक मेडिकल स्टेार है। अधिकांश दुकानों पर दवा विक्रेता ही डॉक्टर बन मरीजों का उपचार कर रहे हैं। शुगर की जांच भी कर रहे है। इसकी जांच में एक ही नीडिल का उपयोग कर रहे हैं। जिससे संक्रमण फैलने की आंशका है।

किसी के पास डिग्री नहीं
सरपंच ने बताया कि अधिकांश मेडिकल स्टोर संचालकों ने किराए पर डी फार्मा का लाइसेंस ला रखा है। जबकि नियमों के तहत लाइसेंसी स्वंय ही दवा विक्रय कर सकता है। दवा विक्रेता बगैर किसी डिग्री के मरीजों के स्वास्थ्य की जांच करने के साथ ही अपने स्तर पर ही दवा दे रहे हैं। कई मेडिकल स्टोर पर दवा विक्रेता ही लेब टैक्नीशियन बनकर मरीजों की जांच के सेम्पल भी लेते है। एक ही नीडिल से कई मरीजों के रक्त के नमूने लेकर डिजिटल स्टूमेंट से जांच कर रहे है। इस जांच के बदले मनमर्जी के दाम भी वसूल रहे है।

मंत्री को मेल कर बताए हालात
सरपंच चौहान ने इस मामले को लेकर चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा को मेल किया है। जिसमें बर सहित आस पास के गांवों के हालात का जिक्र करते हुए स्पेशल टीम गठित कर जांच करवाकर प्रभावी कार्रवाई कराने की मांग की है।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned