Exam tips : राजनीति विज्ञान में समय सीमा का ख्याल रखना बेहद जरूरी

-विद्यार्थियों के लिए पत्रिका का नवाचार
-भंवरसिंह कुम्पावत, व्याख्याता, राजनीति विज्ञान

By: Suresh Hemnani

Updated: 11 Apr 2021, 11:42 AM IST

पाली। कक्षा बारहवीं में राजनीति विज्ञान में विद्यार्थी प्रश्नों की शब्द सीमा व समय का ख्याल कम रखते हैं। इससे परीक्षा का समय पूरा होने पर उनके कई प्रश्न छूट जाते है या उत्तर अधूरा रह जाता है। इसलिए प्रश्न पत्र को तय समय सीमा में करने का अभ्यास करना जरूरी है। इसके लिए बोर्ड की वेबसाइट पर दिए मॉडल पेपर को तय समय में पूर्ण करने का अभ्यास परीक्षा से पहले अवश्य करना चाहिए। वैसे प्रश्न पत्र को पूरा करने के बाद वे 20 मिनट उसकी जांच के लिए भी निकाल सकते हैं। सवाल को याद करते समय निबंधात्मक व लघु उत्तरात्मक सवालों के बिन्दु लिख लेने चाहिए। जिनका परीक्षा से पहले दोहरान किया जा सके।

इस तरह का है प्रश्न पत्र समय विभाजन
-3.15 घंटे प्रश्न पत्र का पूर्ण समय
-15 मिनट प्रश्न पत्र को जवाब लिखने से पहले पढऩे के
-15 मिनट में खण्ड अ के 20 वस्तुनिष्ठ प्रश्न के लिए
-20 मिनट खण्ड ब के 8 अति लघुउत्तरात्मक सवालों के लिए
-30 मिनट खण्ड स के 4 लघु उत्तरात्मक सवालों के लिए (60-80 शब्द)
-25 मिनट खण्ड द के 2 लघु प्रश्नों के लिए (160 से 200 शब्द)
-70 मिनट खण्ड य के 3 निबंधात्मक प्रश्नों के लिए (200 से 250 शब्द)
-20 मिनट उत्तर पुस्तिका जांच के लिए

ऐसा होगा प्रश्न पत्र
-खण्ड अ : इसमें 10 सवाल वस्तुनिष्ठ प्रकार के, 7 प्रश्न का उत्तर एक शब्द में देना होगा व तीन रिक्त स्थान भरने होंगे। हर सवाल एक नम्बर का होगा।
-खण्ड ब : इसमें 8 सवाल होंगे। जिनका उत्तर 20 शब्द में देना होगा। हर सवाल दो अंक का होगा।
-खण्ड स : इसमें चार सवाल होंगे। हर सवाल का विकल्प मिलेगा। इसमें हर सवाल का उत्तर 80 शब्द में देना होगा। हर सवाल 4 अंक का होगा।
-खण्ड द : इसमें दो सवाल होंगे। इन दोनों का विकल्प भी मिलेगा। हर सवाल पांच अंक का होगा। इसमें 160 शब्दों में उत्तर लिखना होता है।
-खण्ड य : इसमें तीन सवाल होंगे। इसमें भी एक सवाल का एक विकल्प मिलेगा। हर सवाल 6 अंक का होगा। सवाल का जवाब 200 से 25

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned