Exam tips : भौतिक विज्ञान में तार्किक रूप से समझकर लिखना चाहिए जवाब

-विद्यार्थियों के लिए पत्रिका का नवाचार
-रतन बारूपाल, व्याख्याता, भौतिक विज्ञान

By: Suresh Hemnani

Updated: 07 Apr 2021, 10:19 AM IST

पाली। 12वीं कक्षा की परीक्षा देते समय विद्यार्थी भौतिक विज्ञान विषय में कई गलतियां कर देते हैं। इस विषय में विषय वस्तु को रटने के बजाय उसे तार्किक ढंग से समझना जरूरी होता है। ऐसा करने से वह सामग्री अधिक समय तक व बेहतर याद रहती है। सूत्र व्यूत्पन्न को क्रमवार लिखकर याद करना चाहिए। इसी से तारतम्यता व निरन्तरता बनी रह सकती है। परीक्षा के पैटर्न की जानकारी रखना भी जरूरी है।

इन बातों का रखना चाहिए ख्याल
-अध्ययन करते समय सभी अध्यायों के बिन्दुवार नोट्स बना लेने चाहिए। जो परीक्षा से पहले पुनरावृत्ति करने में उपयोगी होते है। नोट्स सहायक पुस्तकों के बजाय पाठ्यपुस्तक से ही तैयार करने चाहिए।
-पुस्तक के महत्वपूर्ण अध्याय प्रकाश, परमाणु संरचना, नाभिकिय संरचना, चुम्बक, संचार आदि पर पूरा ध्यान देना चाहिए। ये सरल व अधिक अंक वाले है।
-प्रश्न पत्र 56 अंक का होगा। इसमें से 13 अंक प्रकाश अध्याय में से तथा दस अंक के प्रश्न अध्याय 16 व 17 से आते है। इन अध्यायों का पूर्ण अध्ययन करने पर ही विद्यार्थी बेहतर अंक प्राप्त कर सकता है।
-बोर्ड की ओर से जारी नमूना प्रश्न पत्र के साथ कम से कम दस नमूना पत्रों को परीक्षा समय के अनुसार घर पर उत्तर लिखकर स्वयं जांच करनी चाहिए।
-आंकिक प्रश्नों पर प्रत्येक पद के अंक होते है। इन प्रश्नों के उत्तर पदवार ही लिखने चाहिए।
-परीक्षा में अक्सर डायग्राम पूछे जाते है। इसमें अंक भी अच्छे आते है। इनमें रदरफोर्ड मॉडल, विवर्तन, व्यतिकरण, प्रिज्म, ब्लॉक आरेख, प्रकाशीय उपकरण आदि के चित्र मुख्य है।
-सूत्र व्युत्पन्न करते समय काम में आने वाले सहायक सूत्रों की जानकारी दांयी तरफ अवश्य देनी चाहिए। इसी तरह आंकिक प्रश्नों का उत्तर लिखते समय मात्रकों को भी लिखना चाहिए।

ऐसा आता है प्रश्न पत्र
खण्ड अ - इसमें दस प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रकार के तथा दस प्रश्न का उत्तर एक पंक्ति में देना होता है। ये प्रश्न 20 अंक के होते है।
खण्ड ब - इसमें 12 से 15 तक चार प्रश्न पूछे जाते है। हर प्रश्न दो अंक का होता है। इस खण्ड में आंकिक प्रश्न अधिक पूछने की संभावना रहती है।
खण्ड स - इसमें 16 से 19 तक चार प्रश्न 3-3 अंक के होते है। इसमें प्रश्नों के विकल्प मिलते है।
खण्ड द - इसमें 20 व 21वां प्रश्न चार-चार अंक का होता है। इसमें भी आंतरिक विकल्प होता है।
खण्ड य - इसमें 22 व 23वां प्रश्न होता हे। इसमें आंतरिक विकल्प के रूप में तीन सवाल मिलते है।

इस तरह है अंक वितरण
भौतिक विज्ञान में प्रायोगिक परीक्षा के 30 अंक होते है। सैद्धांतिक परीक्षा के 56 अंक तथा 14 अंक आंतरिक मूल्यांकन के होते है।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned