मारवाड़ की भूमि में खिल रहा आंवला, किसान मालामाल

- जिले भर में करीब 1230 बीघा जमीन में आंवले के बगीचे
- किसानों को एक बीघा आंवले के बगीचे के मिल रहे करीब 50 हजार रुपए

By: Suresh Hemnani

Published: 09 Jan 2021, 10:19 AM IST

पाली। कोरोना महामारी के कारण भले ही विश्वभर में उद्योग व व्यापार पूरी तरह से चौपट हो गए हो, लेकिन इम्यूनिटी बढ़ाने में कारगर आंवला की खेती कर रहे किसान निहाल हो गए हैं। देशभर में आंवले की डिमांड बढ़ गई है। ये ही कारण है कि किसान आंवला की उपज ले रहे हैं। खास बात ये है कि किसानों को दाम भी अच्छे मिल रहे हैं। जानकारों की मानें तो एक बीघा आंवले के बगीचे का करीब 50 हजार रुपए मिल रहे है। जिले भर में करीब 1230 बीघा जमीन में आंवले के बगीचे लगे हुए है। इस हिसाब से इस बार किसानों को आंवले के बगीचे से करीब छह करोड़ 15 लाख रुपए की बंपर आय होगी।

दूसरे राज्य से आ रहे किसान
बढ़ती डिमांड का ही असर है कि प्रदेश सहित देश भर के किसान मारवाड़-गोडवाड़ के गांव-कस्बों में पहुंच रहे हैं और यहां आंवला की खेती कर रहे किसानों से फसल खरीद रहे हैं। वे किसान को एक बीघा आंवले के बगीचे के करीब 50 हजार रुपए दे रहे है। जिले में पुष्कर सहित मध्यप्रदेश के किसानों ने यहां के किसानों से आंवले के बगीचे किराए पर लिए है।

एक पौधे पर करीब 125 किलो आंवले
जानकारों की मानें तो एक बीघा जमीन में आंवला के 44 पौधे होते है और एक पौधे पर 125 से 150 किलो आंवले के फल आते है। इस समय बाजार में आंवला 30 से 40 रुपए प्रति किलो के दाम में बिक रहे है।

मुंहमांगे मिल रहे दाम
साढ़े 12 बीघा जमीन में आंवले का बगीचा लगा हुआ है। बाहर से आए किसानों ने आंवला की फसल खरीदी है, जिससे पहली बार अच्छी आय हुई है। बाहर के किसानों ने मुझे साढ़े आठ लाख रुपए दिए हैं। -कानसिंह देवड़ा किसान, सादलवा

आंवले की डिमांड बढ़ी है
कोरोना काल में आंवले की डिमांड बढ़ी है। इस बार किसानों को प्रति बीघा आंवले के करीब 50 हजार रुपए के दाम मिल रहे है। जिले भर में करीब 1230 हैक्टेयर भूमि में आंवले के बगीचे लगे हुए हैं। -रामअवतार, सहायक निदेशक, उद्यान विभाग पाली

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned