खेतों की ओर बढ़े किसानों के कदम, बुवाई की तैयारी

- मानसून की पहली बारिश के साथ ही खरीफ की बुवाई शुरू
- पांच लाख 48 हजार 500 हैक्टेयर भूमि में होगी खरीफ की बुवाई

By: Suresh Hemnani

Updated: 29 Jun 2020, 06:58 PM IST

पाली। जिलेभर में मानसून की पहली बारिश [ Monsoon rain ] के साथ ही किसानों ने खेल-खलिहानों की ओर रुख कर लिया है। खेतों में खरीफ फसल की बुवाई [ Sowing of Kharif crop ] शुरु कर दी है। किसान इन दिनों बाजरा, ज्वार, तिल, मूंग, ग्वार व व मोठ की बुवाई कर रहे हैं। जहां पर अच्छी बारिश [ Good rain ] हुई है, वहां पर तो बुवाई शुरू हो गई है। लेकिन, जहां पर कम बारिश हुई है, वहां पर किसान खेतों को बुवाई के लिए तैयार कर रहे है। कृषि विभाग [ Agriculture Department ] के अधिकारियों ने भी जिले भर में 5 लाख 48 हजार 500 हैक्टेयर भूमि में बुवाई का लक्ष्य तय कर लिया है। विभागीय अधिकारयों का कहना है कि बारिश के साथ ही किसानों ने पाली, बाली, रोहट, मारवाड़ जंक्शन व जैतारण में बुवाई हुई है।

यह है बुवाई का लक्ष्य
कृषि विभाग के अधिकारियों के मुताबिक जिले में ज्वार का 80 हजार हैक्टेयर में बुवाई का लक्ष्य है। वहीं, बाजरा 35 हजार, मक्का 11 हजार, मूंग 2 लाख 50 हजार, मोठ एक हजार, उड़द 900, चौला 500, अरहर 100, मूंगफली एक हजार, तिल 80 हजार, अरण्डी 7 हजार, कपास 15 हजार, ग्वार 25 हजार तथा अन्य फसलों का 42 हजार हैक्टेयर में बुवाई का लक्ष्य है। इस प्रकार जिले में कुल 5 लाख 48 हजार 500 हैक्टेयर भूमि में बुवाई होगी।

पिछले दिनों इतनी बारिश
जिले भर में पिछले दिनों अच्छी बारिश हुई। पाली में 46 एम.एम. बाली में 15, देसूरी में 11, मारवाड़ जंक्शन में 14, सोजत में 14, रायपुर में 10, जैतारण में 26, रोहट में 17, सुमेरपुर में 16 व रानी में 6 एम.एम. बारिश दर्ज की गई है। इनमें सबसे ज्यादा बारिश पाली में दर्ज की गई।

हां, बुवाई शुरू
जिले भर में मानसून की पहली बारिश के साथ ही खरीफ फसलों की बुवाई शुरू हो गई है। इस बार जिले में 5 लाख 48 हजार 500 हैक्टेयर भूमि में खरीफ फसल का लक्ष्य तय किया गया है। - शंकराराम बेड़ा, उपनिदेशक, कृषि विभाग विस्तार पाली

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned