विवाह का आनन्द अपनों संग, जब वे नहीं आ रहे तो कर दिया स्थगित

- सोहनदास ने कोरोना के कारण स्थगित किया पुत्र का विवाह

By: Suresh Hemnani

Published: 20 May 2021, 09:00 AM IST

पाली। बेटे का विवाह तय किया। पिछले साल कोरोना जैसे विपदा आने की कोई आशंका नहीं थी। घर-परिवार के सभी रिश्तेदारों व मित्रों के साथ खुशी बांटने से मन प्रफुल्लित था, लेकिन कोरोना में पहले 100, फिर 50 और अंत में 11 मेहमान हुए तो मन खट्टा हो गया। मेरे व पत्नी के मन में एक ही ख्याल आया, ऐसी शादी करके क्या करेंगे, जिसमें अपने ही नहीं आ सकते। यह सोचकर सम्बन्धियों से बात की और विवाह स्थगित कर दिया। यह कहना है कि पाली शहर के प्रताप नगर निवासी सोहनदास का। जिनके बेटे कमलेश का विवाह बालोतरा की रहने वाली मनीषा के साथ तय हुआ था और 14 मई को लग्न था।

विवाह की सभी बुकिंग कराई रद्द
सोहनदास ने बताया कि विवाह में आने वाले मेहमानों के लिए दोनों पक्षों ने भवन, रिसेप्शन स्थल, हलवाई, बारात की बस, बैण्ड, ढोल आदि की बुकिंग करवा दी थी। विवाह के लिए खरीदारी करने के साथ दूल्हा-दुल्हन के वस्त्र भी बनवा लिए थे, लेकिन कोरोना के कारण विवाह स्थगित करना पड़ा। जो भी बुकिंग करवाई थी, वे सभी भी रद्द की। इसमें वधु पक्ष के लोगों ने भी सहमति जताई।

इस समय गाइड लाइन का पान जरूरी
सोहनदास का कहना है कि इस समय कोरोना गाइड लाइन की पालना करना जरूरी है। इस बात को हर व्यक्ति को समझना चाहिए। इस महामारी को सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनकर और गाइड लाइन का पालन करके ही हराया जा सकता है। ऐसे में हर व्यक्ति को पहल कर सामाजिक व अन्य आयोजनों को स्थगित कर उदाहरण पेश करना चाहिए। महामारी हारी व जीवन रहा तो खुशी के मौके कई बार आएंगे।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned