Watch video : जो होटल लॉकडाउन में बंद करवाई, वहीं पर पैंथर ने जन्मे शावक

-निर्माणाधीन बन्द होटल में दिया शावकों को जन्म
-विभाग ने लगवाए ट्रेप कैमरा

By: Suresh Hemnani

Published: 05 May 2020, 12:32 PM IST

पाली/सादड़ी। जोधपुर के बाद पाली में भी कोरोना संक्रमित मरीज बढऩे के बीच अरावली की वादियों से अच्छी खबर आई है। यहां मादा पैंथर ने शावकों को जन्म दिया है। पैंथर ने प्रजनन के लिए रणकपुर क्षेत्र के एक निर्माणाधीन होटल को चुना है, जहां लॉकडाउन के कारण निर्माण बंद करवाया था। हालांकि, वन विभाग ने यहां ट्रेप कैमरा लगा दिए हैं, ताकि इनकी सुरक्षा की जा सके।

दरअसल, कुम्भलगढ़ अभयारण्य क्षेत्र तो वैसे ही वन्यजीवों के लिहाज से आबाद है। लेकिन, कोरोना की आपदा के बीच लगाए गए लॉकडाउन में रणकपुर सडक़ मार्ग पर स्थित एक होटल का निर्माण कार्य बंद करवाया था। यहां हलचल नहीं होते देख मादा पैंथर ने प्रजनन के लिए इसे उचित माना और शावकों को जन्म दे दिया। जब इस बंद पड़ी निर्माणाधीन होटल में पैंथर के विचरण की खबरें सोशल मीडिया पर वायरल हुई, तो वन विभाग ने अपने स्तर पर पता लगवाया। इसमें पुष्टि हुई तो वन विभाग ने यहां पर तीन ट्रेप कैमरा लगवाए हैं। साथ ही यहां पर नजर भी रखी जा रही है। साथ ही होटल को अपने संरक्षण में ले लिया है।

वन विभाग जुटा रेस्क्यू करनेकुम्भलगढ़ वन्यजीव अभयारण्य वन क्षेत्र की सादड़ी रैन्ज में पैंथर के शावकों के साथ नजर आने पर वन विभाग रेस्क्यू करने की कवायद में जुटा है। यहां पर कैमरा लगवाए गए हैं। साथ ही पूरी नजर रखी जा रही है। यहां पर एसीएफ यादवेन्द्रसिंह चुंडावत, रेन्जर किशनसिंह राणावत, वनकार्मिक ईश्वरसिंह चौहान, भैराराम विश्नोई, हेमेन्द्र, जितेन्द्र, वनपाल वरदाराम भटनागर आदि ने होटल को संरक्षण में ले लिया है।

कर रहे निगरानी
होटल में पैंथर की पुष्टि हुई है। ट्रेप कैमरा से रैकी की जा रही है। उन्हें सुरक्षित रेस्क्यू करने के प्रयास किए जाएंगे। - यादवेन्द्रसिंह चुण्डावत, एसीएफ, कुम्भलगढ़ अभयाण्य, सादड़ी रेंज

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned