लूट गिरोह का पर्दाफाश : प्रदेश भर में की सैकड़ों वारदातें, पाली की आठ वारदातें कबूली

-दो महिलाओं सहित चार आरोपी गिरफ्तार

By: Suresh Hemnani

Published: 09 Jun 2021, 09:55 AM IST

पाली। गत माह शहर के आसपास कंठी व जेवरात लूटने की एक घंटे में तीन वारदातें करने वाली गैंग का कोतवाली पुलिस ने मंगलवार को पर्दाफाश कर लिया। पुलिस ने दो महिलाओं सहित चार जनों को गिरफ्तार किया है। गिरोह ने पाली जिले में आठ वारदातें करना कबूला है। उन्होंने पाली सहित प्रदेश के जोधपुर, नागौर, अजमेर, सीकर, जयपुर, टोंक, चूरू में चोरी व लूट की सैकड़ों वारदातों को अंजाम दिया।

चार गिरफ्तार, बाकी की तलाश जारी
पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत ने बताया कि 26 मई की सुबह करीब 5 बजे कीरों की ढाणी मानपुरा निवासी शांति देवी पत्नी बुद्धाराम कीर, साढ़े पांच बजे गुड़ा एन्दला के तोगावास में सुकी देवी पत्नी कूपाराम देवासी, सवा छह बजे ट्रान्सपोर्ट नगर थाने के ढाकों की ढाणी नया गांव निवासी शारदा पत्नी सुमेर बंजारा से सोने की कंठी व जेवरात लूटने की वारदात हुई थी। इसके बाद अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ. तेजपाल सिंह, सीओ सिटी निशांत भारद्वाज, कोतवाली प्रभारी गौतम जैन, उप निरीक्षक मनोज सामरिया के नेतृत्व में विशेष टीम गठन किया। टीम ने इस मामले में सिरोही खुर्द नरेना जयपुर हाल जयपुर के गांविदधाम सांभर रोड फुलेरा निवासी उर्फ दिलीप पुत्र देवाराम बावरिया, गदडी तीन तलैया रैनवाल हाल जयपुर गांविदधाम सांभर रोड फुलेरा निवासी धारासिंह उर्फ दानाराम पुत्र चैथूराम बावरिया, नरेना सिरोही खुर्द जयपुर हाल गांविदधाम सांभर रोड जयपुर निवासी लक्षमा पत्नी धारासिंह उर्फ दानाराम बावरिया व शान्ति पत्नी जीतू उर्फ दिलीप बावरिया को गिरफ्तार किया। बाइक पर जिन तीन युवकों ने लूट की वारदातों को अंजाम दिया, इनमें से एक ही पकड़ा गया हैं, शेष दो फरार हैं। गैंग जीतू उर्फ दिलीप के खिलाफ पूर्व में भी लूट व चोरी के 18 प्रकरण दर्ज है। लक्षमा के खिलाफ पूर्व में चोरी का एक मुकदमा दर्ज हैं। गैंग में आठ से ज्यादा लोग शामिल हैं, जिनमें चार को गिरफ्तार किया है।

पाली में की आठ वारदातें
गिरोह ने ने पाली में लूट व चोरी की आठ वारदातें कराना स्वीकार किया हैं। इसमें 3 वारदातें 26 मई की शामिल हैं। इसके साथ ही 14 मार्च को शिवपुरा थाना क्षेत्र की 2, रोहट थाना क्षेत्र में 16 मार्च को 1 वारदात, 10 फरवरी को कालू थाना क्षेत्र में 1 वारदात करना स्वीकार किया। इसके साथ ही 8 मार्च को सोजत सिटी में एक घर में घुसकर चोरी करना कबूला।

टोल नाकों के सीसीटीवी से लगे हाथ
पुलिस ने बताया कि बिना नम्बरी पल्सर बाइक व ब्रेजा गाड़ी से आरोपी आए। जाडन के निकट एक ढाबे पर रात को रुके। आरोपी ढाबे के बाहर रखी चारपाई पर ही सो गए तथा यहां से सुबह बाइक पर गिरोह के तीन बदमाश निकले तथा जिल में सुबह के समय तीन लूट की वारदातों को अंजाम दिया। वारदात के बाद आरोपी ओम बन्ना मिले। यहां लूट का सामान कार में सवार महिलाओं को दिया तथा दो आरोपियों को भी कार में बिठाया। ताकि पुलिस से बच सके। इसके बाद एक आरोपी बाइक पर रवाना हो गया। मामले में पुलिस ने रोहट व जयपुर मार्ग पर लगे टोल प्लाजा के सीसीटीवी फुटेज खंगाले, इसमें पल्सर बाइक व ब्रेजा गाड़ी बिना नम्बर की कई जगह स्पॉट हुई। उस आधार पर गिरोह का पर्दाफाश हो सका।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned