VIDEO : यहां केक काटकर मनाया बालिका जन्मोत्सव, टेबलेट व पौधा देकर किया बेटियों का सम्मान

-जिले की 20 मेधावी बालिकाओं का किया सम्मान

By: Suresh Hemnani

Published: 14 Sep 2020, 08:15 PM IST

पाली। बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजनान्तर्गत बालिका जन्मोत्सव व प्रतिभावान बालिकाओं का सम्मान समारोह कार्यक्रम का आयोजन जिला कलक्टर अंश दीप की अध्यक्षता में सोमवार को नगर परिषद के ऑडीटोरियम हॉल में किया गया।

जिला कलक्टर अंश दीप व उपनिदेशक महिला एवं बाल विकास विभाग ओमसिंह राजपुरोहित के साथ ही सहायक निदेशक महिला अधिकारिता विभाग भागीरथ द्वारा ‘मासिक धर्म कैसी शर्म’ बुकलेट का विमोचन किया गया। बेटी बचाओ बेटी पढाओ लोगो युक्त मास्क का लोकार्पण किया गया। उपस्थित कार्यकर्ता एवं प्रबुद्धजनों को मास्क वितरित किए गए। 15 हजार मास्क एवं 20 हजार बधाई संदेश जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं आंगनवाडी कार्यकर्ताओं, सहायिका, आशा सहयोगिनी, साथिनों एवं विभिन्न प्रशिक्षणों में वितरित किए जाएंगे।

जिले की 20 मेधावी बालिकाओं का किया सम्मान
जिले की शिक्षा के क्षेत्र में 20 मेधावी बालिकाओं को जिला कलक्टर द्वारा टेबलेट, प्रशस्ति पत्र, पौधा बालिकाओं को देकर सम्मान किया गया। धारिणी सुथार, इजान हारा, गायत्री सीरवी, वर्षा गोस्वामी, अंकिता शेखावत, ममता, जानवी जोशी, निंकी कंवर, रवीना, गायत्री, दिलखुश कुमारी, सोनू पुनीया, रेणुका खेरिया, रितु, खुशबु गौड़, जीनल बाठिया, गुंजन तंवर, शीला चारण, पूजा सिंगारिया इत्यादि बालिकाओं को कक्षा 10 व 12 वी की तीनो संकाय से संबंधित है। अपने उद्बोधन में माहवारी स्वच्छता और बेटी बचाओ बेटी पढाओ दोनों ही में बेटी का महत्वपूर्ण योगदान रहता है। माहवारी स्वच्छता की पूर्ण जानकारी व शिक्षा के माध्यम से जनजागृति लाना समाज में समानजनक पद लाकर बेटी शिक्षा को महत्व देना ही बेटी बचाओ बेटी पढाओ के उदेश्य को पूर्ण करता है। इसमे हम सभी का साथ और सहयोग होना अतिमहत्वपूर्ण है।

केक काटकर 21 बालिकाओं का मनाया जन्मोत्सव
बालिका जन्मोत्सव के तहत कुल 21 बालिकाओं का केक काटकर व उनकी माताओ को पीली ओढनी ओढाकर, बेबी किट व वॉकर देकर जिला कलक्टर अंश दीप, उपनिदेशक ओमसिंह राजपुरोहित, सहायक निदेशक भागीरथ द्वारा सम्मानित किया गया। बेटी बचाओ बेटी पढाओ के ब्रांड एम्बसेडर डॉ. राजकमल पारीक ने शिक्षा सेतु के बारे में बताया कि अधिक से अधिक बालिकाओं को शिक्षा से जोडने का पुरजोर प्रयास हेतु आहवान किया। उन्होंने कहा कि बेटी पढ़ाओं योजना के तहत जिले की 20 प्रतिभावान छात्राओं का सम्मान हुआ है। उन्होंने बताया कि अब कोई भी बेटी 14 वर्ष की हो गई है वह सीधे ही 10वीं की ओपन परीक्षा में बैठ सकेगी चाहे उसने किसी भी कक्षा को पास किया हो। कार्यक्रम का संचालन प्रमोद श्रीमाली एवं कल्पना चितारा सुपरवाईजर द्वारा किया गया। नौबत बाजा सामाजिक जागरूकता कार्यक्रम के तहत डिम्पल सेन, प्रवीण सीन्हा ने महिला व पुरूष को समानता के रूप में लेते हुये विभिन्न कार्यो में दोनो की समान भागीदारी सुनिश्चित करते हुए लैगिक समानता पर बल दिया।

ये रहे मौजूद
इस कार्यक्रम में ममता, कल्पना चितारा, नेनी देवी, कविता सपुरवाईजर, मंजू देवी, जीना संतोष महिला पर्यवेक्षक, मेघराज परिहार, अशोक चैधरी कनिष्ठ सहायक, सखी केन्द्र प्रबंधक भावना, मेघा व्यास, देवी बामणिया केस वर्कर, बेटी बचाओ बेटी पढाओ ब्रांड एम्बसेडर आशा मूदंडा, पंकज मूदंडा, आंगनवाडी कार्यकर्ता और प्रबुद्धजन उपस्थित रहे। सहायक निदेशक भागीरथ ने बेटी बचाओ बेटी पढाओ कार्यक्रम को और अधिक सफल बनाने व आगुन्तकों का हार्दिक आभार व्यक्त किया।

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned