परीक्षा टिप्स : लेखाचित्र व सिद्धांत याद रखे तो ला सकते हैं अच्छे अंक, पढ़ें पूरी खबर...

पत्रिका कॉचिंग : अर्थशास्त्र को ऐसे बनाएं सरल
गेस्ट राइटर : श्यामसुंदर लोहार, व्याख्याता, राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय, सुमेरपुर

Suresh Hemnani

February, 1501:56 PM

पाली। 12 वीं बोर्ड परीक्षा के कला व वाणिज्य संकाय में अर्थशास्त्र अच्छे अंक प्राप्त करने वाला विषय है। हालांकि इसे विद्यार्थी सिद्धान्तों व लेखाचित्र के कारण थोड़ा कठिन मानते है। जबकि हकीकत यह है कि लेखाचित्र व सिद्धांत आसानी से याद हो सकते हैं। इनके उपयोग से अंक भी अच्छे प्राप्त होते है। यह विषय दैनिक जीवन से जुड़ा हुआ है। इस कारण यह रुचिकर है। अर्थशास्त्र की परीक्षा से पहले विद्यार्थियों को पिछले पांच वर्ष के प्रश्न पत्रों के उत्तर घर पर ही परीक्षा के समय में लिखने का अभ्यास करना चाहिए। ऐसा करने से लिखने का अभ्यास होने के साथ कई महत्वपूर्ण प्रश्नों के उत्तर आसानी से याद हो जाते है। ग्राफ बनाने में भी आसानी होगी।

सूत्र के साथ लिखें आंकिक प्रश्नों के जवाब
-अतिलघुउत्तरात्मक प्रश्नों के उत्तर संक्षिप्त लिखने चाहिए। इससे समय की बचत होती है।
-उत्तर लिखते समय उदाहरण का समावेश करना चाहिए।
-परीक्षा की तैयारी के लिए पाठ्यक्रम को दो भाग में बांटे।
-पहला सरल इकाइयां : इसमें परिचय, उपभोक्ता का व्यवहार, बाजार का स्वरूप, मुद्रा व बैकिंग, बजट व नकद विहीन लेनदेन, उत्पादक का व्यवहार आदि।
-दूसरी कठिन इकाइयां : उत्पादन की अवधारणा, राष्ट्रीय आय, आय व रोजगार के सिद्धान्त।
-सरल इकाइयों को कंठस्थ किया जा सकता है। जबकि कठिन इकाइयों स प्रत्ययों को लिखकर याद करें।
-प्रश्नों के उत्तर क्रमबद्ध तरीके व बिन्दुवार लिखे।
-दैनिक जीवन से सम्बन्धित प्रश्नों के उत्तर लिखने में अपने विवेक का उपयोग करें। इसमें स्वयं के विचार लिखे।
-निबंद्धात्मक प्रश्नों के उत्तर बिन्दुवार लिखे और इसमें गागर में सागर की तरह तालिका, चार्ट व ग्राफ बनाए। ऐसा करने से समय की बचत होने के साथ अंक भी अच्छे मिलते हैं।
-पाठ्यपुस्तक में मुख्य रूप से उत्पादन संभावना, तटस्थता वक्र, तटस्थता मानचित्र, मांग व पूर्ति वक्र का अभ्यास जरूर करें।
-आंकिक प्रश्नों के उत्तर सूत्र के साथ लिखने चाहिए।
-लेखाचित्र कभी पेन से नहीं बनाए जाए। इसके लिए पेन्सिल का उपयोग करें।
-अर्थशास्त्र में जो दैनिक जीवन से जुड़ी बातें है, वे आसानी से याद रहती है। इस कारण उन इकाइयों का ध्यान केन्द्रित करना चाहिए।

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned