कभी देखा है शादी में पौधे देने की परम्परा, यहां पढि़ये...

-रंगरेज समाज की पहल

 

By: Avinash Kewaliya

Published: 11 Dec 2017, 02:28 PM IST

पाली.

पाली का रंगरेज समाज इसी माह प्रस्तावित सामूहिक विवाह सम्मेलन में जिन्दगीभर एक-दूसरे का हाथ थामने वाले नवविवाहित जोड़ों को घर-गृहस्थी बसाने के चुनिन्दा सामान के साथ दहेज में एक पौधा भेंट करेगा। इसी दौरान नवविवाहित जोड़ों को जीवनभर पौधे की सार-संभाल करने की शपथ दिलाई जाएगी। रंगरेज समाज की रविवार को केरिया दरवाजा स्थित रंगरेज समाज भवन में हुई बैठक में यह निर्णय किया गया। बैठक की अध्यक्षता रंगरेज समाज के हाजी शौकीन अली ने की। इस दौरान 21 दिसम्बर को प्रस्तावित सामूहिक विवाह सम्मेलन के लिए अलग-अलग कमेटियां बनाकर कार्यकर्ताओं को जिम्मा सौंपा गया।

देना होगा सिर्फ 2100 रुपए शुल्क

रंगरेज समाज के हाजी आबिद अली, हाजी हारून रंगरेज ने बताया कि शहर में यह दूसरा सामूहिक विवाह है। आयोजन में दोनों पक्षों से मात्र 1100 सौ रुपए शुल्क लिया जाएगा। मोहम्मद शरीफ रंगरेज, हाजी इरशाद अली, हाजी साबिर दरबार ने बताया कि बाहर से आने वाले समाजबंधुओं के लिए बेटियों की विदाई तक अस्थाई आवास व्यवस्था, खाने-पीने की व्यवस्था आयोजन समिति नि:शुल्क करेगी। आरिफ अली रंगरेज, हाजी यासीन अली डायर व अकरम अली ने बताया कि समाज में पर्यावरण के प्रति जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से ही ये नवाचार किया जा रहा है।

ये रहे मौजूद

बैठक में रंगरेज समाज के मोहम्मद साबिर मीरा, हाजी मासूम अली, सलीम अली, हाजी यासीन अली, सरदार अली दरबार, जाकिर अली पिसनगंज, मोहम्मद शरीफ मामा, हाजी अली पी एफ , हबीब अली, फकीर मोहमद, मंसूर अली, हाजी रफीक अली, अयूब अली, फारुक अली, असलम अली, रमजान अली, शहजाद अली, बाबू भाई पेंटर, मंसूर अली सहित कई समाजबंधु मौजूद रहे।

बालिकाओं के उत्थान के लिए शिक्षा जरूरी-राजपुरोहित

जैतारण. समाजसेवी देवीसिंह राजपुरोहित ने कहा बालिकाओं के सर्वागींण विकास के लिए शिक्षा जरूरी है। शिक्षा की कमी के कारण महिलाएं प्रतिनिधित्व के कई स्थान पर पीछे रह जाती हैं। वे राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय परिसर में एजुकेट गल्र्स संस्थान के दसवें स्थापना दिवस समारोह को सम्बोधित कर रहे थे।
दात्तारसिंह आकोदिया ने कहा कि शिक्षित महिला देश की धरोहर होती है। नोडल अधिकारी शिवगोपालसिंह राजपुरोहित ने कहा कि जो परिवार किसी परिस्थितिवश अपनी बालिका को शिक्षा दिलाने मे असमर्थ रह जाता है, ऐसी बालिकाओं को शिक्षा से जोडऩे के लिए एजुकेट गल्र्स संस्थान की स्वयंसेवीका कार्य करती हैं। संस्थान के इम्पेक्ट अधिकारी मनोहर व नरपतगिरी ने संस्थान की वार्षिक गतिविधियों की जानकारी दी। कार्यक्रम के दौरान कलस्टर हेड मुरलीमोहन व प्रियंका चौहान को बेस्ट टीम का अवार्ड दिया गया। कार्यक्रम मे संदर्भ व्यक्ति मीना शर्मा, धर्मवीर गुर्रासा, उषा जैन, पदमा पंवार सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।

 

Avinash Kewaliya
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned