निजी अस्पतालों में स्वास्थ्य समन्वयक करेंगे मरीजों का सहयोग

-मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना

By: Suresh Hemnani

Published: 11 Jun 2021, 08:19 AM IST

पाली। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से सम्बद्ध निजी अस्पतालों में मरीजों के सहयोग के लिए स्वास्थ्य समन्वयक लगाए जाएंगे। इसमें 100 बेड तक के अस्पतालों के लिए एक तथा 100 से अधिक बेड वाले अस्पतालों में दो स्वास्थ्य समन्वयक नियुक्त किए जाएंगे। जो अस्पताल में योजना के रजिस्ट्रेशन काउंटर पर स्वास्थ्य मार्गदर्शक के साथ उपलब्ध रहेंगे।

ये स्वास्थ्य समन्वयक योजना से सम्बद्ध प्रत्येक निजी अस्पताल व योजना में महज कोविड 19 के उपचार के लिए जिला कलक्टर की ओर से अधिकृत निजी अस्पताल में सेवाएं देंगे। इस कार्य के लिए जिला कलक्टर की अध्यक्षता में जिले में बनी जिला स्वास्थ्य समिति को अधिकृत किया गया है।

पैकेज की मिलेगी जानकारी
स्वास्थ्य समन्वयक के माध्यम से मरीज सॉफ्टवेयर में अपनी पहचान दर्ज कर पाएंगे। अस्पताल में उपलब्ध, अनुमत पैकेज की जानकारी ले सकेंगे। इस योजना से प्रदेश में अब तक 27 हजार से अधिक मरीजों का उपचार किया जा चुका है। जबकि 27 करोड़ के 41 हजार से अधिक क्लेम बीमा कम्पनी को भेजे गए है। योजना से अब तक प्रदेश के 749 सरकारी और 357 निजी अस्पताल जुड़ चुके हैं।

नोडल अधिकारी भी नियुक्त
योजना के बेहतर क्रियान्वयन व परिवदेना के त्वरित निस्तारण के लिए प्रत्येक जोन के लिए एक नोडल अधिकारी आरएसएचए की ओर से लगाया गया है। जो शिकायत के संबंध में अस्पताल व परिवादी से समन्वय कर राहत और निस्तारण का कार्य करते हैं।

जिले में 30 अस्पताल
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में जिले के 25 सरकारी एवं 5 निजी अस्पतालों को शामिल किया गया है। पाली ब्लॉक में ओम हॉस्पिटल, श्रीराम सुपर स्पेशियलिटी सर्जिकल सेंटर, जैतारण ब्लॉक में जयश्री हॉस्पिटल, सुमेरपुर ब्लॉक में भगवान महावीर हॉस्पिटल तथा देसूरी ब्लॉक में श्री विजय वल्लभ जनरल हॉस्पिटल सादड़ी को शामिल किया गया है।

सॉफ्टवेयर से करेंगे पैकेज का चयन
मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत अब कोविड 19 व म्यूकोर माइसिस ब्लैक फंगस के उपचार के लिए सम्बद्ध निजी और सरकारी अस्पताल अब सॉफ्टवेयर के माध्यम से उपयुक्त पैकेज का चयन कर पाएंगे। सॉफ्टवेयर में नए प्रावधान होने से कोविड 19 एवं म्यूकोर माइसिस ब्लैक फंगस के उपचार के लिए भर्ती मरीजों के ऑनलाइन क्लेम प्रस्तुत होंगे। भुगतान प्रक्रिया का क्रियान्वयन ज्यादा सरल और सुलभ होगा।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned