अब तीन दिन में यहां मिलेगी कैंसर की जांच रिपोर्ट

-जोधपुर नहीं भेजने होंगे सैंपल, पाली मेडिकल कॉलेज में हिस्टोपैथेलॉजी लेब शुरू
-65 लाख रुपए की लागत से लगाई गई मशीने

By: Suresh Hemnani

Published: 18 Dec 2020, 09:08 AM IST

पाली। कैंसर जैसी गंभीर बीमारी की जांच के लिए पाली में अब तक कोई सुविधा नहीं थी। यहां से जोधपुर सेम्पल भेजे जाते थे। उसकी जांच रिपोर्ट आने में करीब एक माह का समय लग जाता था और कई बार मरीज की जान पर बन आती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। पाली के राजकीय आयुर्विज्ञान महाविद्यालय (मेडिकल कॉलेज) में ही यह जांच हो सकेगी। इसका परिणाम भी तीन प्रोसेस से गुजरने के बाद महज तीन दिन में आ जाएगा।

यह संभव हुआ है पाली में राजमेस के सहयोग से 65 लाख रुपए की लागत लाई गई हिस्टोपैथोलॉजी की अति आधुनिक मशीन से। जिसका उद्घाटन गुरुवार को जिला कलक्टर अशंदीप, मेडिकल कॉलेज प्रिंसिपल डॉ. हरीश आचार्य, अतिरिक्त प्रधानाचार्य डॉ. के.सी.अग्रवाल, विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. एचपी तोषनीवाल, डॉ. महेन्द्र चौधरी, डॉ. लतिकानाथ सिन्हा, डॉ. हरीश कुमार बोहरा एवं डॉ. खेतमल पी. सहित अतिथियों ने किया।

हर तरह की होगी जांच
इस मशीन से हर तरह के कैंसर की जांच की जा सकेगी। इस मशीन से सर्जरी करने के बाद निकलने वाली गांठ आदि के कैंसर के साथ ब्लड कैंसर और शरीर के अन्य अंगों में होने वाले कैंसर की जांच कर उपचार तुरन्त शुरू किया जा सकेगा। जिससे मरीज की जान पर नहीं बनेगी और उसे अन्य शहरों में नहीं जाना होगा।

शवोंं को रखने की बढ़ी क्षमता
पाली के बांगड़ मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में अब तक आठ शवों को सुरक्षित रखने की क्षमता था। इसे भी अब बढ़ाकर 16 कर दिया गया है। फोरेंसिक मेडिसिन विभाग के 8 नए बॉडी स्टोरेज फ्रिजर का भी उद्घाटन मेडिकल कॉलेज में किया गया। अब मेडिकल कॉलेज यह संख्या 52 तक बढ़ाने के प्रयास में जुटा है।

200 सेम्पल एक साथ जांचने की क्षमता
पैथोलॉजी विभाग में हिस्टोपैथोलॉजी की मशीन आने से मरीजों को लाभ होगा। यह मशीन अति आधुनिक है और एक साथ 200 सेम्पल की जांच की जा सकती है। शव रखने को आपदा को ध्यान में रखते हुए बढ़ाया गया है। इसे अभी ओर अधिक करने के प्रयास कर रहे हैं। -डॉ. हरीश आचार्य, प्रिंसिपल व नियंत्रक, मेडिकल कॉलेज, पाली

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned