Watch video : बरसों बाद लौटे अपने गांव, सामाजिक दूरी के साथ पुनः निभाई विवाह की रस्म

- अपनी माटी की साक्षी में लिए सात फेरे
- अवसाद के माहौल में बिखर गए उल्लास के रंग

By: Suresh Hemnani

Published: 16 May 2020, 08:39 PM IST

पाली/पावा। जिले के तखतगढ़ क्षेत्र के पावा गांव के धाणीयावा बेरे पर 5 मई को मुम्बई से आया एक परिवार बीते 11 दिन से होम क्वॉरंटीन पर है। घर पर बैठे-बैठे तनाव के बीच खुशी का नया तरीका ढ़ूढ़ निकाला है। शनिवार को पूर्व नियोजित परिवार में बच्चों के संग दंपति ने पुन: शादी की रस्म निभाई। दूल्हा-दुल्हन को करीब तीन घंटे तक बण-ठणने में लगे।

बकायदा शादी की सहजकर रखी ड्रेस को पुन: दंपति ने दूल्हा-दुल्हन बनकर सात फेरें लिए। दूल्हा बने श्रवण कुमार माली ने बताया कि 5 मई को उनका परिवार पावा पहुंचा। जहां स्वयं श्रवण, उसकी पत्नी नारायणी पुत्री करिश्मा, कुसुम एवं पुत्र प्रमेश होम क्वॉरंटीन पर है। घर से बाहर नहीं जाने से तनाव को लेकर लिए नया तरीका ढ़ूढ़ा। हालांकि श्रवण की शादी 15 फरवरी 1990 को हुई थी। श्रवण का मुम्बई में स्वयं का व्यवसाय है।

दंपति ने की पूजा अर्चना
शादी की रस्म के तहत दंपति ने पुन: घर पर कुलदेवी की पूजा अर्चना की। घर पर परिवार ने भोज भी बनाया।

शादी के फोटो को सोशल मीडिया पर किया वायरल
दंपति द्वारा पूर्व नियोजित शादी की रस्म को लेकर करीब 3 घंटे का फोटो व वीडियो बच्चों द्वारा बनाया गया। फोटो व वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किया गया। लोगों ने खूब सराहना की।

इनका कहना है...
इन दिनों घर पर होम क्वॉरंटीन के तहत परिवार में पत्नी एवं बच्चों ने शादी की रस्म का तरीका अपनाया। दिन अच्छा निकाला। यादें तरोताजा हो गई। -श्रवणकुमार माली, नारायणी माली, होम क्वॉरंटीन, पावा।

Corona virus
Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned