शादी के चार महीने बाद लगा पत्नी नहीं है सुंदर... पति ने बेदर्दी से घोंट दिया गला

शादी के चार महीने बाद लगा पत्नी नहीं है सुंदर... पति ने बेदर्दी से घोंट दिया गला

Nidhi Mishra | Publish: Sep, 04 2018 02:47:21 PM (IST) Pali, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

रोहट/ पाली। थाना क्षेत्र के ढुढली गांव में एक नव विवाहिता की गला घोंटकर उसके पति व ससुराल वालों ने हत्या कर दी। ससुराल वालों ने हत्या को हादसे का रूप देते हुए विवाहित का अंतिम संस्कार करने के लिए श्मशान घाट तक लेकर पहुंच गए तो वहां पर विवाहिता के परिजनों को शक हुआ। उन्होंने अंतिम संस्कार को रूकवा कर पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही पुलिस शव को रोहट मोर्चरी लेकर आई और मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सुपुर्द किया।


थानाधिकारी प्रेम प्रकाश ने बताया कि गंगा पत्नी सुनिल पालीवाल पुत्री लुणाराम पालीवाल का ससुराल ढुढली गांव में है और पीहर शिवपुरा में आया हुआ है। गंगा का विवाह 4 माह पहले ही सुनिल के साथ हुआ था। शादी के बाद तीज पर ही गंगा ससुराल ढुढली आई थी, जिसे पांच से छह दिन ही हुए हैं। ससुराल आए हुए यानि की शादी के चार माह में 10 से 15 दिन ही ससुराल रही है।


गंगा के सौन्दर्य व दहेज को लेकर उसके पति व ससुराल वालों ने मिलकर रविवार की देर रात को गंगा की गला दबा कर हत्या कर दी। हत्या के बाद गंगा के पति व ससुराल वालों ने बताया कि गंगा को सांप ने कांट दिया, जिससे गंगा की मौत हो गई। इसके बाद अंतिम संस्कार के लिए शव को श्मशान घाट लेकर पहुंच गए। श्मशान घाट में गंगा के शरीर से गहने उतारे गए तो गंगा के चचेरे चाचा मोहन पालीवाल जो रिटायर फौजी हैं, ने गंगा का शव देखा तो गले पर चोट के निशान थे। उन्होंने तुरन्त ही अंतिम संस्कार को रूकवा दिया और पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलते ही थानाधिकारी प्रेम प्रकाश मय जाप्ता मौके पर पहुंचकर शव को रोहट अस्पताल की मोर्चरी में लेकर पहुंचे और परिजनों की मांग पर मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सुपुर्द किया।


हत्या की सूचना मिलते ही सीटी सीओ सी एस सोढ़ा रोहट अस्पताल की मोर्चरी में पहुंचकर मृतका के शरीर पर चोट के निशान देखे और परिजनों से घटना की जानकारी लेकर घटना स्थल पर पहुंचे। पुलिस ने शव का पोस्टमोर्टम करवाकर परिजनों को सुपुर्द किया। गंगा के पिता ने ढुढली निवासी सुनिल पालीवाल, उसके पिता हीरालाल, सास, जेठ, जेठानी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करवाया। इस मामले की जांच सीटी सीओ सी एस सोढ़ा को सौंपी गई।


एेसे हुआ परिजनों को शक
गंगा की हत्या के बाद शव का अंतिम संस्कार करने के लिए ससुराल वालों ने सर्प दंश की कहानी बनाई। जब गंगा के पीहर वालों ने श्मशान में गहने उतारे तो गले पर निशान देखते ही उन्हें शक हुआ। पीहर पक्ष ने बताया कि अगर सर्पदंश होता तो शरीर हरा पड़ जाता लेकिन शरीर हरा नहीं पड़ा और गले से गहने हटाते ही गले पर चोट के निशान दिखाई दिए तो शक यकीन में बदल गया। इसके बाद उन्होंने अंतिम संस्कार रूकवा दिया और पुलिस को सूचना दी।


चार माह पहले ही शादी हुई थी
गंगा की शादी चार माह पहले ही ढुढली निवासी सुनिल के साथ हुई थी। चार माह में 15 से 20 दिन ही ससुराल में रूकी थी। गंगा का कुछ दिन पहले तीज का व्रत था, तो ससुराल आई थी और कुछ ही दिनों बाद उसके पति ने ही गला दबा कर हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि गंगा सुन्दर नहीं थी। उसकी सुन्दरता को लेकर उसकी हत्या की गई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned