पंजाब के तीन कुख्यात गैंगस्टर पुलिस गिरफ्त में, अकाली नेता की हत्या का भी आरोप

-एसओजी की सूचना पर पाली पुलिस की बड़ी कार्रवाई-तीनों पर हत्या, हत्या के प्रयास, अवैध हथियारकब्जे में रखने समेत कई मामले

By: rajendra denok

Published: 01 Mar 2020, 10:38 PM IST

पाली. सोजत (निप्र) ञ्च पत्रिका. पाली पुलिस को एक बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस ने सोजत के मोड़ भट्टा इलाके में कार में सवार पंजाब के तीन कुख्यात गैंगस्टर को पकडऩे में सफलता अर्जित की है। हत्या, हत्या के प्रयास और अवैध हथियार रखने जैसे कई गंभीर मामलों में तीनों पंजाब पुलिस के मोस्ट वांटेड हैं। इन पर अकाली दल के एक नेता की हत्या का भी आरोप है। पुलिस ने आरोपियों को पकड़ कर पंजाब पुलिस के हवाले कर दिया।

पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा ने बताया कि एटीएस और एसओजी के एडीजी अनिल पालीवाल की सूचना मिली थी कि पंजाब के तीन कुख्यात सुपारी किलर हाइवे से निकल सकते हैं। इस पर हाइवे 62 पर नाकाबंदी कराई गई। रात उप अधीक्षक हेमंतकुमार व थानाप्रभारी रामेश्वरलाल भाटी की अगुवाई में नाकाबंदी के दौरान मोड़ भट्टा सरहद में एक सफेद रंग की कार को रुकवाया। कार में सवार तीन जनें संदिग्ध नजर आए तो उन्हें पकड़ कर पूछताछ की। तीनों सुपारी किलर और कुख्यात अपराधी निकले। तीनों को दस्तायाब किया और पंजाब पुलिस को इत्तला दी। पंजाब पुलिस के अधिकारी भी हाइवे पर आरोपियों का पीछा कर रहे थे।

पंजाब पुलिस की स्पेशल टीम के प्रभारी एवं उप अधीक्षक विक्रमसिंह बराड़ व थानाप्रभारी कृपालसिंह भी सोजत पहुंच गए। आरोपी उमरपुरा गांव तहसील मजीटा जिला अमृतसर निवासी हरमनप्रीत उर्फ हरमन भुल्लर पुत्र निर्मलसिंह, बसातकोट गांव तहसील डेरा बाबा नानक थाना कोटली सुतमली जिला गुुरुदासपुर निवासी बलराजसिंहउर्फ भुरी पुत्र रूपसिंह, पं. डौरी वडेच गांव थाना कंबोज जिला अमृतसर निवासी हरविन्दर संधु उर्फ संधु पुत्र मनजीतसिंह को एक कार सहित दस्तयाब कर पंजाब पुलिस को सुपुर्द किया। आरोपियों के खिलाफ पुलिस थाना मुलापुर, जिला मोहाली, पंजाब में आम्र्स एक्ट का मामला दर्ज है।

पंजाब में चल रहा प्रदर्शन

अकाली नेता सरपंच गुरुदीपसिंह की हत्या के बाद से पंजाब में अकाली दल का जगह-जगह धरना-प्रदर्शन चल रहा है। आरोपियों के गिरफ्तारी नहीं होने से पुलिस व पंजाब सरकार भी विपक्ष की निशाने पर थी। पंजाब पुलिस ने कई दिनों से ऑपरेशन चला रखा है। आरोपियों ने इन वारदातों को दिया अंजाम-हरमन, हरविन्द्र व बलराजसिंह उर्फ भुरी गांव उमरपुरा के सरपंच गुरुदीपसिंह की माह जनवरी 2020 में हत्या करने के प्रकरण में फरार चल रहे थे। हरमन, हरविन्द्र व बलराजसिंह उर्फ भुरी ने मनदीपसिंह को नवम्बर 2019 में गोली मारकर हत्या कर दी थी। तीनो आरोपितों पर पंजाब, अमृतसर एवं गुरुदासपुर जिलो में अलग-अलग थानों में चार-चार हत्या के प्रयास के मामले दर्ज है। आरोपी हरमनप्रीत पूर्व में हत्या के प्रकरण में जमानत पर चल रहा था।

दस्तयाब करने वाली टीम

डीएसपी डॉ. हेमंत कुमार, सीआई रामेश्वरलाल भाटी, एसआई जगदीशकुमार नायक,हैडकांस्टेबल बींजाराम, किशोरसिंह, कांस्टेबल चावंडसिंह,नटवरसिंह, राकेश, जसवंतसिंह, राकेश, महेश, जितेंद्र, नीतेश

rajendra denok Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned