कोविड से बढ़ सकती है आपकी शुगर, रहें सावधान

-कोविड होने पर लोगों का बढ़ जाता है शुगर लेवल
-कोविड होने पर अन्य जांचों के साथ शुगर की जांच करवाना जरूरी

By: Suresh Hemnani

Published: 20 Nov 2020, 11:31 AM IST

पाली। कोविड 19 वायरस फेफड़ों सहित अन्य अंगों को प्रभावित करता है। इसके साथ यह शुगर लेवल भी तेजी से बढ़ता है। जिस व्यक्ति को शुगर नहीं है। उसे भी कोविड होने पर शुगर की जांच जरूर करवानी चाहिए। हाल ही में पाली में आए सामान्य लोगों को कोविड होने पर उनका शुगर लेवल बढ़ा पाया गया।

जिन लोगों को पहले से शुगर है, उनका शुगर लेवल भी 300 से 500 तक बढ़ गया। ऐसे में जांच नहीं कराने पर कई बार ऐसे मरीजों की जान पर बन आती है। कोरोना का साधरण बुखार, जुकाम व खांसी होने पर शुगर कंट्रोल नहीं होने पर निमोनिया की संभावना भी बढ़ जाती है। इससे साइटोकाइन स्ट्रॉम (शुगर लेवल व बीमारी तेजी से बढऩा) हो जाता है। फेफड़ों में खून रुक जाता है। एचआरसीटी लेवल भी तेजी से बढ़ता है। ऑक्सीजन लेवल कम हो जाता है और मरीज को वाइपेप की जरूरत होती है।

हृदयघात की बढ़ती संभावना
कोविड से शुगर अनियंत्रित होने पर कोविड से ठीक होने के बाद भी मरीजों में ऑक्सीजन लेवल कई बार 80-85 से ऊपर नहीं आता है। पोस्ट कोविड फाइब्रोसिस व हार्ड अटैक की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में मरीज को तुरन्त फिजिशियन से सलाह लेनी चाहिए। इसमें खून को पतला करने की दवा देना जरूरी होता है। एंटी फाइब्रोटिक मेडिसन लेनी की जरूरत भी रहती है।

मधुमेह की जांच कराना जरूरी
कोविड के लक्षण होने पर मधुमेह की जांच करानी चाहिए। जिससे गंभीर अवस्था से बचा जा सके। वैसे कई मरीजों में कोविड ठीक होने पर शुगर लेवल अपने आप सामान्य भी हो जाता है, लेकिन जिनको पहले से शुगर है। उनको खतरा अधिक रहता है। -डॉ. प्रवीण गर्ग, एसोसिएट प्रोफेसर, मेडिसन, बांगड़ मेडिकल कॉलेज अस्पताल, पाली

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned