scriptKrishna Jetawat of Pali selected for post of Flight Cadet in Airforce | सेना की परेड देखते ही ठान लिया, जाऊंगी तो वायुसेना में ही, आखिर कृष्णा ने छू ली मंजिल | Patrika News

सेना की परेड देखते ही ठान लिया, जाऊंगी तो वायुसेना में ही, आखिर कृष्णा ने छू ली मंजिल

- पानीपत व दिल्ली में की पढ़ाई पूरी
- पाली जिले के सिसरवादा गांव की है कृष्णा जैतावत

पाली

Published: June 27, 2022 06:30:34 pm

पाली। कृष्णा जैतावत (Krishna kumari jaitawat) दिल्ली (Delhi) में बीएससी के दौरान जब पहली बार कॉलेज में एयरफोर्स (Indian Airforce) के अधिकारियों से मिली तो सेना (Army) में जाने की ललक पैदा हुई। ये ललक तब और ज्यादा बढ़ गई, जब राजपथ (Rajpath Delhi) पर सेना की परेड देखी। इसके बाद तो उसने वायुसेना (Indian Airforce) में जाने की ठान ली। आखिरकार मेहनत रंग लाई और कृष्णा कुमारी (Krishna kumari jaitawat) का वायुसेना में फ्लाइट कैडेट के पद पर चयन हो ही गया। कृष्णा (Krishna) के वायुसेना (Airforce) में जाने की खुशी से दिल्ली में निवासरत परिवार के साथ ही इनके मूल गांव पाली जिले (Pali District) के सिसरवादा (Sisarwada village) में भी परिजन व ग्रामीण खुशी से फूले नहीं समा रहे हैं। ये प्रेरक कहानी सिसरवादा के चैनसिंह जैतावत की पौत्री कृष्णा जैतावत की है।
सेना की परेड देखते ही ठान लिया, जाऊंगी तो वायुसेना में ही, आखिर कृष्णा ने छू ली मंजिल
अपने माता-पिता के साथ कृष्णा जैतावत
पानीपत हरियाणा के कॉन्वेंट स्कूल से प्रारंभिक शिक्षा पूरी करने वाली कृष्णा के पिता अर्जुनसिंह जैतावत और पारसकंवर पिछले कई सालों से दिल्ली में ही है। शुरुआती पढ़ाई पानीपत (Panipat) में पूरी करने के बाद दिल्ली आ गई, जहां जाकिर हुसैन दिल्ली कॉलेज (Jakir husain college Delhi) से कैमिस्ट्री ऑनर्स में बीएससी करने के बाद किरोरीमल कॉलेज, दिल्ली यूनिवर्सिटी से कैमिस्ट्री ऑनर्स में एमएससी की। शुरु से पढ़ाई में अव्वल रही कृष्णा का ध्येय वायुसेना (Airforce) में जाने का बन चुका था। ऐसे में वह मेहनत करती रही। आखिरकार उसकी मेहनत रंग लाई। पाली में पुलिस अधिकारी शिवसिंह जैतावत ने बताया कि उनके भाई का परिवार व्यापार के सिलसिले में दिल्ली में ही है। कृष्णा के दो छोटे भाई-बहन जसवंत व लतिका भी वहीं पढ़ाई कर रहे है।
तीसरे प्रयास में मिली सफलता
सपने को साकार करने के लिए कृष्णा ने भारतीय वायु सेना (Indian Airforce) की ओर से होने वाली वायु सेना कॉमन एडमिशन टेस्ट (एएफसीएटी) दिया। दो बार असफल रहने के बाद आखिरकार तीसरे प्रयास में उसने इस टेस्ट में वरियता प्राप्त कर ली। इसके लिए लिखित परीक्षा के साथ ही मेडिकल टेस्ट को भी कृष्णा ने पार कर लिया। 17 वीं रैंकिंग प्राप्त कृष्णा का अब वायुसेना में फ्लाइट कैडेट ब्रांच में चयन हो चुका है।
पहले भी सिसरवादा के होनहार छा चुके
सिसरवादा का जैतावत परिवार शुरू से ही शिक्षा को महत्व देता रहा है। कृष्णा के परिवार में ही शिवसिंह जैतावत की बेटी हेमलता जैतावत जापान में मल्टीनेशनल कम्पनी में प्रबंधन की जिम्मेदारी संभाल रही है। इनकी उच्च शिक्षा टोक्यो जापान में ही पूरी हुई। वहीं भाई जितेन्द्रसिंह जैतावत एक मल्टीनेशनल कम्पनी में सिंगापुर में चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर के पद पर कार्यरत है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Nashik News: कंबल में लेटाकर प्रेग्‍नेंट महिला को पहुंचाया गया हॉस्पिटल, दिल दहला देने वाला वीडियो हुआ वायरलबीजेपी अध्यक्ष ने LG को लिखा लेटर, कहा - 'खराब STP से जहरीला हो रहा यमुना का पानी, हो रहा सप्लाई'सलमान रुश्दी पर हमला करने वाले की ईरान ने की तारीफ, कहा - 'हमला करने वाले को एक हजार बार सलाम'58% संक्रामक रोग जलवायु परिवर्तन से हुए बदतर: प्रोफेसर मोरा ने बताया, जलवायु परिवर्तन से है उनके घुटने के दर्द का संबंध14 अगस्त स्मृति दिवस: वो तारीख जब छलनी हुआ भारत मां का सीना, देश के हुए थे दो टुकड़ेआरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का बड़ा बयान, बापू की छोटी सी भूल ने भारत के टुकड़े करा दिएHimachal Pradesh: जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाने पर होगी 10 साल की जेल, लगेगा भारी जुर्मानाDGCA ने एयरपोर्ट पर पक्षियों के हमले को रोकने के लिए जारी किया दिशा-निर्देश
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.