VIDEO : मंदिरों पर ताला, मदिरालय खुले, पहले ही दिन बिकी एक करोड़ की शराब

- सोशल डिस्टेंसिंग भूल शराब ठेकों पर उमड़े लोग
- दोपहर बाद ठेकों से शराब खाली, लगानी पड़ी पुलिस

By: Suresh Hemnani

Published: 05 May 2020, 12:02 AM IST

पाली। लॉक डाउन के दौरान करीब एक माह बाद सरकारी आदेश के तहत मंदिरों पर ताला लगा रहा, लेकिन मदिरालय यानि शराब के ठेके जरूर खुले। इस दौरान शराब खरीदने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। दोपहर बाद तक तो शराब ठेकों पर माल खाली हो गया। कई ठेकों पर भीड़ को देखते हुए आबकारी विभाग ने पुलिस व अपना जाप्ता तैनात किया। अनुमान के तहत पहले दिन पाली जिले में करीब एक करोड़ रुपए की शराब बिकी।

ठेके खुलने से पहले ही पहुंचे गए खरीदार
सरकार ने पाली को औरेंज जोन मानते हुए शराब ठेके सशर्त खोलने की अनुमति दी। सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखने के निर्देश दिए गए। लेकिन सुबह जब शराब ठेके खुले तो उससे पहले ही लोग शराब खरीदने पहुंच गए। सुबह से दोपहर तक शराब ठेकों पर भारी भीड़ रही। हालात को देखते हुए यहां आबकारी ईपीएफ का जाप्ता व पुलिस तैनात करनी पड़ी। पाली जिले के ग्रामीण इलाकों व शहर के ठेकों पर कतार लगी रही। कुछ जगहों पर भीड़ को खदेड़ा गया।

दोपहर बाद ठेकों पर शराब का स्टॉक खत्म हो गया, बावजूद इसके लोग वहां खड़े रहे। पाली के ठेकों पर देशी व अंग्रेजी दोनों प्रकार की शराब का स्टॉक खत्म हो गया। शाम को पाली-सोजत रोड पर स्थित आबकारी गोदाम पर शराब खरीदने के लिए ठेकेदारों की भीड़ लग गई। आबकारी निरीक्षक बीआर जाखड़ सहित ईपीएफ की टीम शहर में ठेकों पर व्यवस्था संभालती दिखी।

ठेकों पर माल खाली
सुबह ठेके खुले तो भीड़ उमड़ पड़ी। पुलिस व आबकारी जाप्ता लगाया गया। दोपहर में ठेके खाली हो गए, सोशल डिस्टेंसिंग के लिए व्यवस्था में और सुधार करेंगे। - भूपेन्द्र सिंह, जिला आबकारी अधिकारी, पाली।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned