37 साल की अनिवार्यता में लॉकडाउन भारी

-अनिवार्यता में मिली छूट से दिशावर में होने लगी शादियां

By: Suresh Hemnani

Published: 17 Jun 2020, 02:05 PM IST

पाली/पावा। जैन समाज में गांव में शादी करने की अनिवार्यता के बावजूद इन दिनों जैन बंधु दिसावर में विवाह करने को विवश है। दरअसल, ये शादियां तखतगढ़ निवासी दुल्हन और दूल्हे की इन दिनों दिसावर में हो रही है। जैन समाज तखतगढ़ ने 37 साल पूर्व युवक एवं युवतियों की शादी तखतगढ़ में करना अनिवार्य किया गया था। लेकिन,कोरोना महामारी के चलते लगे लॉकडाउन में जैन समाज ने इस अनिवार्यता में छूट दी है। ऐसे में ये 31 जुलाई तक का समय निर्धारित किया गया है। आगामी स्थिति को देखते हुए आगे भी छूट मिलने की संभावना है।

ये हुआ था फैसला
22मार्च को देशभर में जनता कफ्र्यू लगा। बाद में लॉकडाउन लग गया। लॉकडाउन-1 में जैन समाज के ट्रस्टियों की आपस में टेलीफोन वार्ता के बाद निर्णय पारित किया गया कि एक अपे्रल 2020 से लेकर 31 जुलाई 2020 तक दिशावर में अपनी सहूलियत के अनुसार शादियां कर सकते है। अब तक दो शादियां हो चुकी है।

केस-1
दूल्हे का नाम- विवेक राजमल
निवासी- मंदिर गली तखतगढ़
दूल्हन का नाम- करिश्मा पाटनी
निवासी- माले गांव
शादी की तिथि- 2 मई 2020
शादी स्थल- मालेगाव दूल्हन का निवास

केस-2
दूल्हे का नाम- केनिल अशोक सांकरिया
निवासी- सांडेराव
दूल्हन का नाम- सीमरन ललित जैन
निवासी- जोगणी गली तखतगढ़
शादी की तिथि- 15 जून 2020 सोमवार
शादी स्थल- डूंगरी मुम्बई निवास स्थल

इनका कहना है...
महामारी को लेकर अनिवार्यता में छूट दी गई है। 31 जुलाई के बाद फिर से समय आगे बढ़ाने का विचार है। अब तक दो शादियां हुई है। -डॉ. चंदन गांधी, पूर्वा पालिकाध्यक्ष एवं अध्यक्ष ऋषभदेव भगवान जैन पेढ़ी तखतगढ़।

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned