scriptMigrant Rajasthani ready to invest if facility is available in Pali | यहां अच्छी सड़कें, सब्सिडी और सम्मान मिले तो निवेश को तैयार प्रवासी राजस्थानी | Patrika News

यहां अच्छी सड़कें, सब्सिडी और सम्मान मिले तो निवेश को तैयार प्रवासी राजस्थानी

locationपालीPublished: Dec 09, 2023 11:16:51 am

Submitted by:

rajendra denok

Pali Textile Industry : देश-दुनिया मेें व्यापारिक कौशल का मनवाया लोहा, मातृभूमि का कर्ज चुकाने की मंशा

यहां अच्छी सड़कें, सब्सिडी और सम्मान मिले तो निवेश को तैयार प्रवासी राजस्थानी
पाली का कपड़ा उद्योग

Pali Textile Industry : देश और दुनिया में व्यापार-उद्योग में आसमान छू रहे राजस्थान के कुबेर अपना घर चमकाने के लिए भी तैयार है। बस जरूरत है उन्हें सस्ती बिजली, सड़क, परिवहन, स ब्सिडी और सम्मान की। राजस्थान में निवेश के लिए अनुकूल माहौल की नई सरकार से प्रवासी राजस्थानियों को उम्मीद है। नियमों में सरलीकरण और बेहतर कनेक्टिविटी भी प्रवासी राजस्थानी निवेश के लिए जरूरी मान रहे हैं। कर्नाटक, गुजरात, महाराष्ट्र, तेलंगाना समेत कई राज्यों में राजस्थानियों का व्यापार में दबदबा है। कई इण्डस्ट्री ऐसी है जिसमें हमारे राजस्थानियों का एकछत्र राज है। अकेले पाली, जालोर व सिरोही जिले के लोग बहुतायत में वि भिन्न राज्यों में व्यापार कर रहे हैं। बदन पर महज एक जोड़ी कपड़ा लेकर घर से निकले मारवाड़ियों ने मेहनत और हुनर से यह मुकाम हासिल किया। वे चाहते हैं कि अपनी मातृभूमि में निवेश करें, जिससे स्थानीय लोगों को रोजगार मिल सके और प्रदेश भी तरक्की करे।

बिजली की दरों और खराब सड़कों से निराशा
निवेश की इच्छा रखने वाले प्रवासी राजस्थानी हमारी खराब सड़कों और संसाधनों की कमी से निराश है। उनका कहना है कि सड़कों के कारण यातायात के साधनों की लागत बढ़ जाती है। बाहर के व्यापारी यहां आना पसंद नहीं करते हैं। बिजली की दरें भी अन्य राज्यों से इतनी ज्यादा है कि लागत भी भारी पड़ती है।

-प्रवासी यहां निवेश के लिए तैयार है, लेकिन हमारी सड़कें हो या संसाधन तरस आता है। सरकार भी कोई ध्यान नहीं देती। बिजली बहुत ज्यादा महंगी मिल रही है। फाइनेंस की सुविधा भी नहीं है। यह सब करने से राजस्थान तेजी से आगे बढ़ सकता है। -हड़मानाराम घांची, निवासी बावड़ी, प्रवासी राजस्थानी गोवा

-कोई भी उद्योगपति तभी आएगा जब उसे अनकूल माहौल उपलब्ध होगा। राजस्थान में भी ऐसे ही माहौल की जरूरत है। प्रवासी राजस्थानी यहां उद्योग-धंधे लगाने के लिए तैयार है। सरकार इसके लिए आवश्यक जरूरतें पूरी करें। -राजेन्द्रसिंह कुम्पावत, निवासी संडारड़ा, प्रवासी राजस्थानी बैंगलूरू

-चैन्नई में मेरा व्यापार है। तमिलनाडू सरकार उद्यमियों के काम प्राथमिकता से करती है। ऐसी व्यवस्था यहां भी होनी चाहिए। हर काम बेहद धीमी गति से होते हैं। सरकारी दफ्तरों के चक्कर काटने पड़ते हैं। नई सरकार को निवेश को बढ़ावा देने के लिए नीतियों में सरलीकरण करना चाहिए। -लालसिंह राजपुरोहित, निवासी मादा, प्रवासी राजस्थानी चैन्नई

ये ध्यान दे सरकार
● व्यापार के लिए मूलभूत संसाधनों की उपलब्धता हो।
● निवेश के लिए सरकारी प्रक्रिया का सरलीकरण किया जाना चाहिए।
● प्रवासी राजस्थानियों के प्रवास वाले राज्यों से ट्रेनों की कने क्टिविटी पर्याप्त हो।
● एयरपोर्ट और रेलवे से भी जुड़ाव हो।
● बिजली की दरों में रियायत मिले। बिजली की आपूर्ति भी सतत हो।
● फाइनेंस और स ब्सिडी पर्याप्त मिले।
● प्रवासी राजस्थानियों को निवेश के लिए प्रोत्साहित किया जाए।
● प्रवासी राजस्थानियों को सरकार उचित सम्मान दे।

हालात ऐसे-ऐसे
● डेढ़ सौ किलोमीटर में दायरे में कोई एयरपोर्ट नहीं। जोधपुर संभाग में केवल जोधपुर में ही एयरपोर्ट की सुविधा।
● अन्य राज्यों से ट्रेनों का संचालन भी पर्याप्त नहीं। कई स्टेशनों पर ट्रेनें रुकती भी नहीं।
● साढ़े सात रुपए प्रति यूनिट बिजली मिल रही। यह कई राज्यों से महंगी। ● सड़क और परिवहन के हालत खस्ता।
● सरकारी नियम बेहद जटिल।

ट्रेंडिंग वीडियो