प्रभारी मंत्री बोले: पानी की नहीं होनी चाहिए किल्लत

जिला प्रभारी मंत्री शाले मोहम्मद ने अधिकारियों की बैठक में दिए निर्देश

By: Rajeev

Published: 10 Sep 2021, 08:46 PM IST

पाली. मानसून की बेरुखी के कारण जिले में गहराए जल संकट को लेकर अल्पसंख्यक मामलात वक्फ व जन अभाव अभियोग निराकरण विभाग एवं जिला प्रभारी मंत्री शाले मोहम्मद ने कहा कि पाली में पानी की किल्लत नहीं होनी चाहिए। वाटर ट्रेन व कुड़ी से रोहट तक पाइप लाइन का कार्य जल्द पूरा किया जाए। वे शुक्रवार को कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि जल संकट के समय सभी विभागों को समन्वय से कार्य करना होगा। जिससे जिले में पेयजल सुलभ हो सके। उन्होंने प्रशासन शहरों व गांवों के संग की तैयारी, ऑक्सीजन प्लांट्स, नवीन वार्ड निर्माण, संभावित कोरोना तीसरी लहर की तैयारी की समीक्षा की।

अभियान में मौके पर ही किया जाए समस्या समाधान

उन्होंने 2 अक्टूबर से शुरू हो रहे प्रशासन शहरों एवं गांवों के संग में आमजन के कार्यों व समस्याओं का निराकरण मौके पर ही करने के निर्देश दिए। शिविर में सम्पादित होने वाले कार्योंे की ऑनलाईन फीडिंग करने काके कहा। प्रशासन शहरों के संग में शहरी क्षेत्र स्थित कच्ची बस्तियों में सर्वे करवाकर जरूरतमंदों को पट्टे वितरण करवाने के निर्देश दिए। प्रशासन ग्रामों के संग शिविरों में जिले में नव स्थापित 20 पंचायतों में दुग्ध समितियों की स्थापना के लिए एमडी डेयरी पाली को निर्देशत दिए। इसके अलावा डिस्कॉम अधिकारियों को नए कनेक्शन देने व ट्रांसफार्मर आदि लगवाने को कहा।

जनप्रतिनिधियों ने बताई समस्याएं

जनप्रतिनिधि महावीरसिंह सुकरलाई ने रोहट क्षेत्र में क्षतिग्रस्त विद्युत पोल, अघोषित बिजली कटौती की समस्या बताई। एफ आरटी टीमों की संख्या बढ़ाने को कहा। शिशुपालसिंह निम्बाड़ा द्वारा इटन्दरा मेड़तियान में सार्वजनिक स्थानों से गुजर रही हाई वॉल्टेज लाइन का मामला उठा। श्रम विभाग उप निदेशक को लेबर कार्ड के लम्बित दो हजार आवेदनों का जल्द निस्तारण करवाने के निर्देश दिए गए।

कलक्टर ने पेयजल की बताई व्यवस्था

जिला कलक्टर अंश दीप ने मंत्री को पेयजल संकट में पानी आपूर्ति व वाटर ट्रेन खाली होने को लेकर की गई व्यवस्था से अवगत कराया। जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता ने वाटर ट्रेन से लाए जाने वाले पानी के बारे में जानकारी दी। इसके अलावा जिले के कस्बों व गांवों के लिए तैयार योजना के बारे में बताया।

पेयजल समस्या के स्थासी समाधान का आग्रह
जिले में पेयजल की समस्या के स्थाई समाधान के लिए जोधपुर से रोहट व पाली तक नई पाइप लाइन की स्वीकृति कराने के लिए जनप्रतिनिधियों ने आग्रह किया। यह आग्रह जनप्रतिनिधि सुकरलाई, दिलीप चौधरी, केवलचंद गुलेच्छा, शोभा सोलंकी आदि ने किया।

चिरंजीवी योजना पर मंथन

बैठक में चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा, पालनहार योजना, मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना, प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री आवास योजना, इन्दिरा रसोई योजना पर मंथन किया गया। मंत्री ने जिले में कोविड टीकाकरण औषधिय पौधों के वितरण की रिपोर्ट ली। इसके अलावा विभिन्न योजनाओं के तहत होने वाले निर्माण कार्यों आदि की भी प्रगति जानी।

बैठक में जिला पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत, अतिरिक्त जिला कलक्टर चन्द्रभानसिंह भाटी, यूआईटी सचिव वीरेन्द्रसिंह चौधरी, उपखंड अधिकारी देशलदान, पीएचईडी के अधीक्षण अभियंता जगदीश शर्मा, सीओ ग्रामीण श्रवण कुमार आदि मौजूद रहे।

प्रमाण पत्रों का किया वितरण

प्रभारी मंत्री ने एमनेस्टी योजना के तहत लाभार्थियों को अदेयता प्रमाण पत्र एवं मुख्यमंत्री कोरोना विधवा सहायता योजना के तहत लाभार्थियों को प्रमाण पत्र वितरित किए। उन्होंने बताया कि कोरोना के काल में जिले में विधवा हुई 516 महिलाओं एवं 9 अनाथ बालकों को सहायता राशि स्वीकृत की जा चुकी है।

Show More
Rajeev Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned