राज्यसभा में माथुर बोले, जवाई पुनर्भरण पर जल्द कदम उठाए सरकार

-पाली, जालोर व सिरोही जिले के लिए जीवन रेखा है जवाई बांध

By: Suresh Hemnani

Published: 22 Sep 2020, 09:06 AM IST

पाली। राज्य सभा सदस्य एवं भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओमप्रकाश माथुर ने जवाई पुनर्भरण का मुद्दा राज्य सभा में पुरजोर ढंग से उठाया। उन्होंने सरकार से आग्रह किया कि पाली, जालोर व सिरोही जिले के लिए जवाई बांध जीवन रेखा है। सरकार को जवाई पुनर्भरण योजना पर गंभीरता पर विचार करते हुए अतिशीघ्र स्वीकृति देनी चाहिए।

माथुर ने शून्यकाल के दौरान कहा कि पश्चिमी राजस्थान में यह सबसे बड़ा पेजयल मुद्दा है। जवाई बांध के निर्माण के बाद यह 8 से 10 बार ही पूरा भरा है। जब भी पानी से भरता है पेयजल और सिंचाई के लिए पानी दिया जाता है। लेकिन आजादी के बाद यह बांध अधिकांश समय खाली ही रहा है। इससे किसानों की जमीनें प्यासी रह जाती है। किसानों को मजबूरन आंदोलन करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि पाली, जालोर व सिरोही जिला पेयजल और सिंचाई के लिए जवाई पर निर्भर है। उनके आग्रह पर वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जल आयोग को विशेष योजना बनाने के निर्देश दिए थे। इसकी लागत 6 हजार 521 करोड़ आंकी गई थी।

यह योजना केन्द्र सरकार के विचाराधीन है। यह योजना दो चरणों में पूरी करना प्रस्तावित है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी की प्रशंसा करते हुए यह भी कहा कि वर्तमान में परियोजना की संशोधित पीएफआर केन्द्रीय जल आयोग के पास परीक्षणाधीन है। इस संबंध में राजस्थान और गुजरात के अधिकारियों की बैठक भी जून में हो चुकी है। उन्होंने सरकार से अनुरोध किया कि इस महत्वपूर्ण योजना को जल्द स्वीकृत कर तीनों जिलों को पेयजल एवं सिंचाई की समस्या से निजात दिलाए।

Suresh Hemnani Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned