बकाया नगरीय विकास कर वसूलने में हांफी नगर परिषद

- 31 मार्च तक का समय, शुल्क जमा नहीं करवाया तो होगी सम्पत्ति कुर्क
- नगर परिषद वित्तीय वर्ष के अंतिम माह में बकाया लाखों रुपए का नगरीय कर वसूलने में जुटी

By: Suresh Hemnani

Updated: 17 Mar 2021, 08:52 AM IST

पाली। बकाया नगरीय विकास कर व गृह कर वसूलना नगर परिषद के लिए टेढ़ी खीर बन गया हैं। वित्तीय वर्ष का अंतिम माह चल रहा हैं, लेकिन अभी तक लाखों रुपए का नगरीय विकास कर व गृह कर शहरवासियों में बकाया चल रहा है। अब नगर परिषद कर वसूलने के लिए प्रयासों में जुटी है।

79 लाख नगरीय विकास व 60 लाख गृह कर बकाया
वर्तमान में 79 लाख रुपए नगरीय विकास कर व करीब 60 लाख रुपए गृह कर लोगों में बकाया चल रहा हैं। जिसे वसूलने को लेकर नगर परिषद इन दिनों जुटी हुई है।

नगर परिषद के दायरे में आले वाले भूखंड व भवन मालिकों को नगरीय विकास कर व गृह कर जमा नहीं करवाना भारी पड़ सकता है। कर वसूली को लेकर नगर परिषद इन दिनों जुटी हुई है, जिससे परिषद का खजाना कुछ भर सके। भवन मालिकों को 31 मार्च तक कर अदायगी का समय दिया है। नगरीय विकास कर व गृह कर की प्रभावी वसूली को लेकर नगर परिषद की ओर से नोटिस जारी किए जा रहे हैं। उसके बाद भी नगरीय विकास शुल्क जमा नहीं करवाए जाने पर भवन को सीज या कुर्क करने की कार्रवाई की जा सकती हैं।

गृह कर पर शत प्रतिशत छूट
31 मार्च तक बकाया गृह कर एक मुश्त जमा करवाने पर मूल राशि में 50 प्रतिशत और ब्याज तथा शास्ति में 100 प्रतिशत छूट दी जाएगी। 2019-20 तक के नगरीय विकास कर की राशि को एक मुश्त जमा कराने पर ब्याज और शास्ति में 100 प्रतिशत छूट दी जा रही हैं। इसके साथ ही वर्ष 2011-12 से पूर्व के बकाया नगरीय विकास कर को एक मुश्त जमा करने पर ब्याज व पेनल्टी में 100 प्रतिशत छूट का लाभ दिया जा रहा हैं।

सम्पति कुर्क व सीज करने की भी होगी कार्रवाई
15 मार्च तक वसूली की कार्रवाई की जा रही है। इसके बाद डिफॉल्टर रहे शहरवासियों और सम्पतियों के खिलाफ नगर पालिका अधिनियम 2009 के तहत नियमानुसार बैंक खाता सीज करने, सम्पत्ति सीज कर कुर्क करने की कार्रवाई की जाएगी। - छैल कंवर चारण, राजस्व अधिकारी, नगर परिषद, पाली

Suresh Hemnani
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned