जहां सिर्फ गिने-चुने भूखंड या खेत-खलिहान, वहां पर भी बना रहे डामर सडक़ें

परिषद के जिम्मेदार अधिकारी मौन

By: Om Prakash Tailor

Updated: 30 Dec 2018, 01:23 PM IST

पाली . शहर में इन दिनों बनाई जा रही डामर की सडक़ें चर्चा का विषय बनी हुई है। जिन गलियों में एक-दो मकान बने हैं, वहां भी सडक़ बनवा दी तो एक मोहल्ला ऐसा है जहां से होकर गुजरने वाली सडक़ के दोनों किनारे कोई मकान नहीं है। जबकि, कई मोहल्ले एेसे हैं, जो सालों से आबाद है। लेकिन, सडक़ सुविधा से तो वंचित ही है।
शहर के नया गांव रोड इन्द्रविहार संतोष नगर से होकर रेलवे पटरी की तरफ एक सडक़ जा रही है। सडक़ बस्ती से होकर गुजर रही है। लेकिन आगे खेत आए हुए है और भूखण्ड कटे हुए है। लेकिन जिम्मेदारों ने जहां अभी तक बस्ती आबाद तक नहीं हुई। वहां भी सडक़ बनाने का कारनाम कर दिया। जो शहर में इन दिनों चर्चा का विषय है कि आखिर किसको फायदा पहुंचाने के लिए सडक़ आबादी विहीन क्षेत्र में भी बना दी गई।
यहां कब बनेगी सडक़ें
सुंदर नगर, रजत नगर की अधिकतर गलियों में आज भी सडक़-नाली का अभाव है। क्षेत्रवासी कई बार मांग कर चुके है लेकिन जिम्मेदारों के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी। दूसरी ओर जहां फिलहाल आबादी नहीं है वहां भी सडक़ का निर्माण करवाया दिया। क्षेत्र के रमेश गोयल, धमेन्द्र परमार, अशोक मालवीय लौहार, विकास परिहार, चंद्रसिंह राजपुरोहित आदि का कहना है कि क्षेत्र में सडक़ों का निर्माण हो तो राहत मिले।

इधर, कार्यवाहक आयुक्त ने किया मौका मुआयना
इधर, शनिवार को कार्यवाहक आयुक्त भंवराराम पटेल ने जगदम्बा नगर क्षेत्र में बन रही डामर की सडक़ों का निरीक्षण किया। उन्होंने माना कि दो गलियां ऐसी हैं, जहां मकान एक-दो ही बने हुए है। वहां फिलहाल सडक़ निर्माण नहीं करवाकर आबादी क्षेत्र में निर्माण होता तो बेहतर रहता। उन्होंने नगर परिषद एक्सइएन को भी इस पर निगरानी रखने के निर्देश दिए।

Om Prakash Tailor
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned